Monday , May 29 2017
Home / Crime / बदमाशों को बचाने के लिए पुलिस पर हमला

बदमाशों को बचाने के लिए पुलिस पर हमला

इलाहाबाद: उपरदहा गांव में शनिवार आधी रात लूट के इरादे से जा रहे बदमाशों को दबोचने पहुंची पुलिस टीम पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। बदमाशों के साथ मिलकर गांव वालों ने पुलिस दल पर ईंट-पत्थर फेंके और फायरिंग भी की। चौतरफा घिरने पर पुलिसवालों की जान खतरे में पड़ गई। दरोगा और सिपाही जख्मी हो गए। किसी तह घायल पुलिसकर्मी वहां से भागे। बाद में छह लोगों को नामजद करते हुए 40 अज्ञात ग्रामीणों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। हंडिया के बरौत चौकी प्रभारी भुवनेश चौबे को शनिवार रात खबर मिली कि पांच अपराधी उपरदहा में रिलायंस पेट्रोल पंप के बगल में लूट की योजना बना रहे हैं। थाने से भी पुलिस बल मंगाकर चौकी प्रभारी चौबे ने आधी रात बदमाशों की घेराबंदी कर ली। पुलिस देख बदमाश उपदहा गांव के अंदर भागे। बदमाश उसी गांव के रहने वाले हैं। वहां एक बारात भी आई थी। पुलिस भी गांव में घुसी तो बदमाशों का शोर सुनकर ग्रामीण जुटने लगे। एक व्यक्ति सालिकराम ने लोगों को उकसाया कि पुलिस उनके साथ के लोगों को जबरन पकड़ने आई है। इस पर जुटे ग्रामीण पुलिस पर हमलावर हो गए। महिलाएं-पुरुष पुलिस दल पर पथराव करने लगे। पुलिस को देख भागे बदमाश भी ग्रामीणों के साथ मिलकर फायरिंग करने लगे। बड़ी संख्या में ग्रामीणों के हमले के आगे पुलिसवालों को जान बचाने के लिए पीछे हटना पड़ा।
ईट-पत्थर लगने से चौकी प्रभारी भुवनेश चौबे, दरोगा शैलेंद्र पांडेय, सिपाही जयहिंद यादव, सुनील यादव, सूबेदार यादव, रामसूरत यादव, साजिद खां, अश्विनी राय, सुरेंद्र यादव, ओमप्रकाश यादव, सिराज खां जख्मी हो गए। इस बीच बदमाश ग्रामीणों के पथराव के बीच फरार हो गए। पुलिसकर्मियों को मौके से भागना पड़ा। घायल पुलिसकर्मियों का इलाज कराया गया। इस घटना में पुलिस की ओर से हंडिया थाने में फरार अपराधियों उपरदहा के विनोद उर्फ बऊ, भोला उर्फ सूरज, गिरजाशंकर उर्फ बाबा, उग्रसेन उर्फ बब्बू, पुजारी तथा ग्रामीणों को उकसाने वाले सालिकराम के खिलाफ पुलिसकर्मियों पर जानलेवा हमले, सरकारी कार्य में बाधा, धमकी, गालीगलौज, 7 सीएलए एक्ट के तहत केस लिखा गया है। इसमें 40 अज्ञात ग्रामीण भी शामिल हैं जिन्हें चिह्नित करने की कोशिश की जा रही है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT