Thursday , October 19 2017
Home / Uttar Pradesh / इंसाफ़ और इंसानियत बचाने के लिए लखनऊ में होगा आज़ादी मार्च

इंसाफ़ और इंसानियत बचाने के लिए लखनऊ में होगा आज़ादी मार्च

अशफाकुल्लाह खान यूथ ब्रिगेड उत्तर प्रदेश में तेज़ी से नौजवानो की इंकेलाबी तंजीम बनकर उभर रही है जिसका मकसद युवाओ में शहीदों के सपनो से जोड़ना और अशफाक-बिस्मिल के दोस्ती पर आधारित कौमी एकता के लिए अभियान छेड़ना होगा।

अशफाकुल्लाह खान यूथ ब्रिगेड की लखनऊ यूनिट का गठन 9 अगस्त 2017 को “अंग्रेजों भारत छोड़ो” की सालगिरह के मौके पर हुआ। इस तहरीक ने देश में अंग्रेजो की बुनियाद हिला दी थी।

सगठन के सरबराह अमीक जामेई ने बताया, ‘अंग्रेजो भारत छोडो के मौके पर जब गाँधी जी ने करो या मरो के नारा दिया तो एक तरफ जहाँ युवा गाँधी, नेहरु, सरदार पटेल और अबुल कलाम आज़ाद के बताए पर निकल पड़े।

वही दूसरी तरफ हिन्दू महासभा के नेता विनायक दामोदर सावरकर व बंगाल की मुस्लिम लीग में उपमुख्यमंत्री श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने क्विट इन्डिया तहरीक के साथ धोखेबाजी कर अंग्रेजो का खुलकर साथ दिया था।

इसलिए आज उनकी राजनीतिक विरासत आरएसएस व भाजपा को देश के मजदूरों, किसानों व शहीद परिवारों से माफ़ी मांगनी चाहिए जिनकी वजह से अनगिनत शहीद अंग्रेजो द्वारा स्वंत्रता आन्दोलन में मारे गए।

इस दौरान “इन्साफ और इंसानियत के लिए आजादी मार्च” नाम से प्रदेश व्यापी आन्दोलन निकलाने की भी बात कही गई।

अशफाकुल्लाह खान यूथ ब्रिगेड की लखनऊ यूनिट ने कहा, हम चाहते हैं कि कमजोरों को इंसाफ मिले , फासीवादी ताकतों के ज़ुल्म से देश को बचाया जाए।

अमीक जामेई ने कहा कि इन्ही मांगो को लेकर आगामी 8 सितम्बर को लखनऊ में विशाल जनसभा के ज़रिये इस आन्दोलन की शुरुआत की जाएगी।

इस मीटिंग की अध्यक्षता नौजवान आबिद रज़ा ने की, लखनऊ यूनिट ने सर्व्सम्मिती से अशफाकुल्लाह खान यूथ ब्रिगेड के सरबराह अमीक जामेई की मौजूदगी में लखनऊ यूनिट चलाने के लिए बतौर कन्वीनर- सय्यद आबिद राजा, को कन्वीनर-मौलाना आकिल नदवी, ताशी रिज़वी को मीडिया इंचार्ज, अरिफ मिर्ज़ा को लखनऊ युनिवर्सटी का इंचार्ज, नदीम अस्करी को डिसिप्लिनरी कमिटी का सरबराह, मौलाना आकिल नदवी को नदवा तुल उलेमा का ज़िम्मेदार, ज़की अख्तर और आरिफ मिर्ज़ा को सोशल मीडिया टीम की ज़िम्मेदारी दी गयी।

 

TOPPOPULARRECENT