Thursday , September 21 2017
Home / Bihar News / बिहार में नहीं मिला एंबुलेंस तो बेटे को मोटरसाईकल पर ले जाना पड़ा मां का शव

बिहार में नहीं मिला एंबुलेंस तो बेटे को मोटरसाईकल पर ले जाना पड़ा मां का शव

पटना: बिहार से मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। यहां एंबुलेंस नहीं मिलने के चलते एक महिला के शव को मोटरसाईकल पर ले जाने की मामला सामने आया है। यह मामला बिहार के पूर्णिया जिले का है।

श्रीनगर कोतवाली क्षेत्र के रानीबाड़ी गांव के रहने वाले शंकर शाह की 50 वर्षीय पत्नी सुशीला देवी को स्थानीय सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन इलाज के दौरान ही उनका निधन हो गया।

शंकर शाह के मुताबिक, अपनी पत्नी की मृत्यु के बाद उन्होंने मेडिकल स्टाफ से शव को घर ले जाने के लिए एंबुलेंस का मांग किया। लेकिन मेडिकल स्टाफ ने उन्हें एंबुलेंस मुहैया कराने से साफ मना कर दिया और कहा गया कि शव को ले जाने का खुद इंतजाम करो।

इसके बावजूद जब परिजनों ने एंबुलेंस ड्राइवर से जाकर विन्नती किया कि वो शव को उनके घर पहुंचा दे और जो किया लगे ले ले, तो उनसे 2,500 रुपये मांगा गया। इसके बाद उन्होंने शव को ले जाने के लिए काफी दौर-धूप किया लेकिन कहीं से भी मदद नहीं मिली।

इसके बाद शंकर शाह और उनके बेटे पप्पू ने अपनी पत्नी के शव को मोटरसाइकल पर लादकर ले जाने का फैसला किया। अस्पताल के सिविल सर्जन एमएम वसीम से इस बारे में जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि आज के समय में सदर अस्पताल में एक भी एंबुलेंस उपलब्ध नहीं है। अस्पताल में एक एंबुलेंस है जो कोई काम का नहीं है। इसलिए लोगों को खुद ही एंबुलेंस का इंतजाम करना पड़ता है।

वहीं दूसरी तरफ जिलाधिकारी पंकज कुमार पाल ने कहा कि यह बहुत ही निंदनीय घटना है और इसकी जांच के निर्देश दिए जा चुके हैं। इस मामले की जांच के लिए दो सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है, जो दो दिनों के भीतर रिपोर्ट सौपेगी।

TOPPOPULARRECENT