Saturday , August 19 2017
Home / History / अकबर को महान बताने वालों की खुद की औकात दो कौड़ी की है: कैलाश विजयवर्गीय

अकबर को महान बताने वालों की खुद की औकात दो कौड़ी की है: कैलाश विजयवर्गीय

अलवर: बीजेपी मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने विश्व प्रसिद्ध इतिहासकारों पर विवादित टिप्पणी की है।
कैलाश ने कहा है कि हिंदू संस्कृति के महान नायकों महाराणा प्रताप और शिवाजी को भगोड़ा बताने वाले ये इतिहासकारों की औकात खुद दो कौड़ी की भी नहीं है।
इन लोगों ने अकबर को महान बना दिया है।
महाराणा प्रताप और वीर सावरकर जयंती महोत्सव पर प्रताप ऑडिटोरियम में आयोजित एक कार्यक्रम में कैलाश ने कहा कि हमें दुनिया के इतिहास से वे पन्ने फड़वाने पड़ेंगे, जहां महाराणा प्रताप और शिवाजी को भगोड़ा कहा गया है और अकबर को महान बताया गया है।

उन्होंने कहा कि इतिहासकार दशरथ शर्मा बताते हैं, अकबर को उनके दरबार के इतिहास अकबरनामा, आदि के अनुसार महान कहते हैं। लेकिन अगर उनके कामों को देखा जाए और उनके अपने हिंदू सामतों के साथ अभद्र बर्ताव को देखा जाए तो उनकी महानता की असलियत पता चले।
अकबर के हिन्दू सामंत उनकी इजाजत के बिना मंदिर तक नहीं बना सकते थे।
बंगाल में राजा मानसिंह ने एक मंदिर बिना अकबर से इजाजत लिए शुरू कर दिया था तो अकबर ने पता चलने पर उसे रुकवा दिया और 1595 में उसे मस्जिद में बदलने के आदेश दिए।
महाराणा प्रताप और शिवाजी जैसी महान हस्तियों की इनकी महानता तभी संभव होगी, जब देश का झंडा विश्व गुरू के रूप में पहचान बनाएगा।

TOPPOPULARRECENT