Friday , July 28 2017
Home / Hyderabad News / तेलंगाना: मुस्लिम आरक्षण के प्रस्ताव का विरोध कर रहे भाजपा के पांच MLA विधानसभा से निलंबित

तेलंगाना: मुस्लिम आरक्षण के प्रस्ताव का विरोध कर रहे भाजपा के पांच MLA विधानसभा से निलंबित

हैदराबाद। तेलंगाना कैबिनेट ने शनिवार को मुस्लिमों को आरक्षण बढ़ाने वाले बिल को पास कर दिया है।

हालाँकि रविवार को विधानसभा के विशेष सत्र के दौरान भाजपा ने इसका जोरदार विरोध किया जिसके बाद पार्टी के 5 विधायकों को सदन से निलंबित कर दिया गया। इन सदस्यों में भाजपा के सदन में नेता जी किशन रेड्डी, के लक्ष्मण, राजा सिंह, एनवीएसएस प्रभाकर और चिन्तला रामचंद्र रेड्डी शामिल हैं।

निलंबित भाजपा सदस्य के लक्ष्मण ने कहा कि वे सरकार का असली चेहरा बेनकाब करेंगे।

किशन रेड्डी ने आरोप लगाया कि तेलंगाना सरकार वोट बैंक की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव उत्तर प्रदेश में भाजपा की बड़ी जीत के बाद असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।

बता दें कि भाजपा की तेलंगाना इकाई शुरू से ही राज्य सरकार के नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में मुस्लिमों को आरक्षण देने के फैसले का विरोध कर रही है।

दरअसल चुनाव के समय पार्टी ने प्रदेश के मुसलमानों के हित में आरक्षण बढ़ाकर 12 प्रतिशत करने का वादा किया था। साल 2014 के चुनाव के समय की गई इसी घोषणा को पूरा करते हुए तेलंगाना राष्ट्र समिति ने इस बिल को मंजूरी दी है।

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने इसी हफ्ते कहा था राज्य सरकार इस वादे को पूरा करने के प्रयास करेगी, हालांकि इसे केंद्र की मंजूरी की आवश्यकता है क्योंकि यह तेलंगाना राष्ट्र समिति के चुनाव घोषणापत्र का हिस्सा था।
राज्य सरकार इस मुद्दे को उठाने के लिए केंद्र से आग्रह करेगी क्योंकि कोटा 50 प्रतिशत की सीमा से अधिक होगा।

 

 

 

 

 

केंद्र को अपनी मंजूरी देनी होगी क्योंकि तमिलनाडु में पहले से ही 69 प्रतिशत का कोटा लागू है। विपक्षी भाजपा इस प्रस्ताव के विरोध में खड़ी हो गई है। भाजपा ने आरोप लगाया कि यह संविधान की भावना के खिलाफ है क्योंकि यह सांप्रदायिक है। हालांकि, मुख्यमंत्री ने कहा था कि आरक्षण को धर्म के आधार पर नहीं बल्कि पिछड़ेपन के आधार पर दिया जाना प्रस्तावित है।

 

 

 

 

 

केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू ने शुक्रवार को कहा था कि धर्म के आधार पर आरक्षण से देश में सामाजिक अशांति हो सकती है और इससे एक और पाकिस्तान का निर्माण हो सकता है।

 

 

 

 

 

 

तेलंगाना विधान परिषद में कांग्रेस नेता मोहम्मद अली शब्बीर ने शनिवार को अल्पसंख्यक कोटा को धार्मिक आरक्षण के रूप में वर्गीकृत करने के लिए भाजपा की निंदा की। उन्होंने कहा कि भाजपा ने गुजरात में पटेलों को 10 प्रतिशत आरक्षण दिया है, क्या यह धार्मिक आरक्षण नहीं है?

TOPPOPULARRECENT