Tuesday , July 25 2017
Home / Politics / भाजपा पर बरसे वरुण गाँधी, कहा- किसान कर्ज से जान दे रहे हैं और माल्या पैसे लेकर भाग गया

भाजपा पर बरसे वरुण गाँधी, कहा- किसान कर्ज से जान दे रहे हैं और माल्या पैसे लेकर भाग गया

यूपी चुनाव में नदारद दिखाए दे रहे भाजपा सांसद वरुण गाँधी ने बीते मंगलवार इंदौर में एक कार्यक्रम के दौरान मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा कर दिया। वरुण ने हर उस मुद्दे पर बात की जो मोदी सरकार की कमजोरी मानी जाती है। वरुण इंदौर के एक स्कूल में ‘विचार नए भारत का’ विषय पर व्याख्यान दे रहे थे।

पिछले दो साल में साढ़े सात हजार किसानों ने आत्महत्या कर ली और माल्या नौ हजार करोड़ रुपये लेकर भाग गया।

आर्थिक गैर-बराबरी बात करते हुए उन्होंने कहा कि मुंबई में जहां दो लाख से ज्यादा लोग सड़क पर सोने को मजबूर हैं, वहीं इसी शहर में चार लोगों के एक परिवार के पास 27 माले का मकान है, जो उन्होंने किसी तरह 4 हजार करोड़ रुपए में बनाया है। अब समय आ गया है कि लोग खुद आगे आकर क्रांति लाएं।

उन्होंने आर्थिक असमानता पर चर्चा की और कहा विजय माल्या का गारंटर बताकर जिस मनमोहन सिंह को गिरफ्तार किया गया, उसके बैंक खाते में सिर्फ 1100 रुपए मिले थे। आज वह जेल में है और माल्या विदेश में घूम रहा है।

हमारे देश में 1991 तक एक भी व्यक्ति ऐसा नहीं था, जिसके पास पांच हजार करोड़ या इससे ज्यादा संपत्ति हो। आज यह संख्या 95 हो गई है।
कर्ज माफी योजनाओं का लाभ गरीबों को मिलने के बजाय उद्योग घरानों को मिल रहा है। 2002 से 2015 के बीच सरकार ने 2.70 लाख करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया। इसमें से 78 फीसदी कर्ज देश के 20 घरानों का माफ हुआ है।

गांधी ने कहा 15 साल से किसानों की वास्तविक कमाई में लगातार गिरावट हो रही है। 1980 में यह 5 प्रतिशत की दर से बढ़ रही थी। 1990 में यह 2 प्रतिशत हो गई।

आर्थिक असमानता की हालत यह है कि लोग सिर्फ इसलिए शव अस्पताल के बाहर छोड़ जाते हैं कि उनके पास अंतिम संस्कार करने के लिए पैसों का इंतजाम नहीं है।

देश की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा इलाज नहीं मिलने से देश में 5 हजार बच्चे रोजाना दम तोड़ देते हैं। स्वास्थ्य कारणों से हर साल 2 करोड़ से ज्यादा लोग गरीब हो जाते हैं।

करीब डेढ घंटा कार्यक्रम में रहे वरुण ने कांग्रेस द्वारा लाए गए सूचना के अधिकार अधिनियम की तारीफ करते हुए कहा कि इसकी वजह से भ्रष्टाचार में कमी आई है।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि रोहित वेमुला का सुसाइड नोट पढ़कर उन्हें रोना आ गया था।

TOPPOPULARRECENT