Friday , May 26 2017
Home / Delhi News / नोटबंदी के बाद बैंक में 104 करोड़ रुपए जमा कराने के मामले में BSP को मिली क्लीन चिट

नोटबंदी के बाद बैंक में 104 करोड़ रुपए जमा कराने के मामले में BSP को मिली क्लीन चिट

लखनऊ: नोटबंदी के समय जमा कराए गए 104 करोड़ रुपए के मामले में बहुजन समाज पार्टी को निर्वाचन आयोग से क्लीन चिट मिल गई है। बीएसपी ने नोटबंदी के बाद यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के अपने पार्टी अकाउंट में 02 से 09 दिसंबर 2016 के बीच 104 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा कराए थे ।

इलाहाबाद हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर करने वाले प्रताप चंद्रा ने अदालत में कहा था कि 08 नवंबर के बाद बीएसपी ने 104 करोड़ रुपये जमा कराये, जो सीधे-सीधे निर्वाचन आयोग निर्देशों का उल्लंघन है, जिस पर सुनवाई करते हुए कोर्ट ने आयोग को तीन माह में कार्यवाही के आदेश दिए थे।

प्रताप चंद्रा की वकील डॉ. नूतन ने कहा कि आयोग के दो मार्च के नोटिस पर बीएसपी ने 12 मार्च को दिये जवाब में स्वीकार किया कि उन्होंने नोटबंदी के बाद 104.36 करोड़ कैश जमा कराया। और साथ ही यह भी कहा कि पार्टी का मात्र एक अकाउंट दिल्ली में है, अत: पूरे देश से पैसा पहले दिल्ली लाया जाता है और फिर जमा होता है।

बीएसपी ने बताया कि यह सारा पैसा नेताओं के विभिन्न रैली में इकठ्ठा हुआ था। पार्टी ने नोटबंदी के तुरंत बाद बैंक से संपर्क किया लेकिन बैंक ने तत्काल पैसा जमा कराने में असमर्थता दिखाई और बैंक की सुविधानुसार धीरे-धीरे पैसा जमा किया गया।

आयोग ने 04 मई के आदेश में बीएसपी के जवाब पर स्थिति और व्यवहारिक परेशानी को मानते हुए प्रकरण को समाप्त करने का निर्णय लिया। साथ ही बीएसपी को भविष्य में इन निर्देशों का कड़ाई से पालन करने के भी निर्देश दिए।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT