Thursday , May 25 2017
Home / India / क्या भाजपा देश में रहने वाले काले लोगों को भारतीय नहीं समझती? – चिदंबरम

क्या भाजपा देश में रहने वाले काले लोगों को भारतीय नहीं समझती? – चिदंबरम

कांग्रेस नेता पी चिदंबरम ने भाजपा नेता तरुण विजय के दक्षिण भारतीय लोगों पर की गई टिप्पणी पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या भाजपा और आरएसएस के सदस्य ही भारतीय हैं।

चिदंबरम ने ट्विटर पर कहा कि जब तरुण विजय यह कहते हैं कि हम काले लोगों के साथ रहते हैं तो मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि इसमें हमलोग कौन हैं? क्या वह भाजपा, आरएसएस सदस्यों को ही भारतीय मानते हैं? चिदंबरम दक्षिण भारत में तमिलनाडु के रहने वाले हैं।

बता दें कि बीते कल तरुण विजय ने यह कहते हुए नस्लवाद पर विवाद छेड़ दिया था कि भारतीय लोगों को नस्लभेदी नहीं कहा जा सकता है क्योंकि वह दक्षिण भारतीय लोगों के साथ रहते हैं जो कि काले हैं। उन्होंने यह विवादित बयान एक अंतरराष्ट्रीय टीवी चैनल पर पैनल चर्चा के दौरान दिया था। इस बयान पर काफी विवाद छिड़ गया है।

अफ्रीकी छात्रों पर हुए हमले के बाद भारत पर लगे नस्लभेदी आरोपों पर उन्होंने कहा था कि अगर हम नस्लभेदी होते तो हमारे पास पूरा तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक और आंध्रप्रदेश क्यों होता। हमारे पास काले लोग हैं, हमारे आासपास काले लोग हैं।

हालाँकि सोशल मीडिया पर आलोचना झेलने के बाद आरएसएस से संबद्ध साप्ताहिक पांचजन्य के पूर्व संपादक विजय ने ट्विटर पर माफी मांग ली। भाजपा प्रवक्ता शाइना एनसी ने कहा कि विजय अपनी बात अलग तरह से भी रख सकते थे।

 

 

 

 

कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि यह टिप्पणी भगवा पार्टी के अपने देश के लोगों के बीच भेदभाव करने की प्रवृति को दिखाती है। द्रमुक सांसद टीकेएस इलनगोवन ने कहा कि विजय की टिप्पणी मजाकिया थी। उनकी पार्टी के प्रवक्ता ने कहा कि विजय का बयान उत्तर भारतीय और दक्षिण भारतीय लोगों के बीच अंतर को दर्शाता है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT