Sunday , May 28 2017
Home / Crime / जब डाकू लूट के चक्कर में खुद लुट गए, गवाई जान

जब डाकू लूट के चक्कर में खुद लुट गए, गवाई जान

लखनऊ: डाकू अक्सर अपनी बदनीयती से मारे जाते हैं। जनपद चित्रकूट से एक ऐसी ही दिलचस्प खबर सामने आई है। शादी के माहौल को खराब करने पहुंचे एक डाकू राजा ठाकुर को दुल्हन के भाई को गोली मारना महंगा पड़ गया। भड़के ग्रामीणों ने डाकू को घेरकर पीट-पीट कर मार डाला। यह घटना चित्रकूट जनपद के भगवतपुर कोलौंहा गांव की है। ग्रामीणों के आक्रामक तेवर देख उसके साथी जान बचाकर भाग निकले। डकैत की गोली से घायल युवक को इलाज के लिए इलाहाबाद भेजा गया है। उधर, ग्रामीणों ने तहरीर दी है कि दस्यु सरगना डाका डालने आया था, जिस पर ग्रामीणों ने विरोध किया और विरोध के दौरान डाकू मारा गया। पुलिस के अनुसार, भरतकूप चौकी क्षेत्र के गांव भगवतपुर कोलौंहा में सोमवार को रामकरण सोनकर की बेटी का ब्याह था। गांव के लोग बारात के स्वागत में लगे हुए थे। घर के पास हैंडपंप में दस्यु सरगना राजा ठाकुर गैंग के साथ शराब पी रहा था। यहां उसने बाराती व कन्या पक्ष के लोगों के साथ छीना झपटी शुरू कर दी। ग्रामीणों ने उसे मना किया तो डाकू ने रामकरण के भतीजे राजाराम सोनकर (23) को गोली मार दी। गोली राजाराम की जांघ में लगी, वह जमीन पर गिर गया। इस पर भड़के ग्रामीणों ने दस्यु सरगना को दौड़ा दिया और जमकर पीटा। गैंग के बांकी सदस्य भाग निकले। ग्रामीणों की पिटाई से डाकू की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर एसपी प्रताप गोपेंद्र भारी पुलिस बल के साथ गांव पहुंचे और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा। मौके से एक 315 बोर की राइफल बरामद हुई। एसपी ने बताया कि डाकू पर मध्यप्रदेश पुलिस की ओर से दो हजार रुपये का इनाम था। उत्तर प्रदेश में भी उस पर आधा दर्जन मामले दर्ज हैं। उन्होंने बताया कि राजा ठाकुर भरतकूप क्षेत्र में छह माह से सक्रिय था।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT