Sunday , May 28 2017
Home / India / ओडिशा: बजरंग दल और वीएचपी की गुंडागर्दी के बाद सांप्रदायिक तनाव, दुकानें जलाई गईं, कर्फ्यू लगा

ओडिशा: बजरंग दल और वीएचपी की गुंडागर्दी के बाद सांप्रदायिक तनाव, दुकानें जलाई गईं, कर्फ्यू लगा

ओडिशा के भद्रक में फेसबुक पर राम और सीता के बारे में कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणियों को लेकर सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया था। इसको देखते हुए एहतियातन प्रशासन की ओर से शुक्रवार शाम छह बजे से शहर में कर्फ्यू लगा दिया गया।

इससे पहले आक्रोशित लोगों ने मोटरसाइकिल रैली निकाली और जब इसका विरोध हुआ तो दूसरे पक्ष के लोगों ने वाहनों में तोड़फोड़ की और करीब 20 दुकानों को आग के हवाले कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस के साथ धक्कामुक्की की गई। देखते ही देखते शहर में कई जगह हालत नियंत्रण से बाहर हो गए। शुक्रवार रात देर रात दंगाइयों ने हनुमान मंदिर को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

पुलिस अधीक्षक दिलीप दास ने कहा कि नूला बाज़ार चौक के पास भीड़ ने ट्रैफिक जाम कर दिया गया था। हालाँकि शांति समिति की बैठक में दोनों समुदायों के सदस्यों को बुलाया गया लेकिन बातचीत विफल रही।

वहीँ राज्य सरकार ने जिला कलेक्टर एल.एन. मिश्रा का ट्रांसफर कर दिया है और अब कटक नगरपालिका आयुक्त ज्ञान रंजन दास ने उनकी जगह ली है।

गृह सचिव असित त्रिपाठी, डीजीपी के बी सिंह और अन्य शीर्ष अधिकारी भद्रक पहुंच गए हैं। पुलिस की करीब 15 प्लाटून को यहां तैनात किया है। एक अन्य समुदाय के सदस्यों ने कथित रूप से बजरंग दल के कार्यकर्ता अजीत कुमार पदहारी की फेसबुक वॉल पर कथित तौर पर अपमानजनक टिप्पणी लिखी है।

वीएचपी और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने सड़क जाम करते हुए पोस्ट को लेकर तीन युवाओं की गिरफ्तारी की मांग की है। भगत सेना राम नेवी समिति ने तीनों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

 

Top Stories

TOPPOPULARRECENT