Saturday , June 24 2017
Home / Uttar Pradesh / योगी का ‘धर्म’ राज: दलितों का बाल काटा तो नाईयों का होगा सामाजिक बहिष्कार

योगी का ‘धर्म’ राज: दलितों का बाल काटा तो नाईयों का होगा सामाजिक बहिष्कार

संभल- बीजेपी के सत्ता में आने के बाद से उत्तरप्रदेश में सांप्रदायिक और जातिय संघर्ष बढ़े हैं। सहारनपुर में जातीय संघर्ष के बाद अराजक तत्वों ने अब संभल को भी जाति की आंच में झुलसाने की तैयारी कर ली है। यहां चंदौसी तहसील के 10,000 की आबादी वाले गांव फत्तेपुर शमशोई में अब वाल्मीकियों के बाल काटने को लेकर हंगामा खड़ा हुआ है।

वाल्मिकी समाज के बाल काटने और ना काटने को लेकर शुरु हुआ विवाद पुलिस तक पहुंच गया। गांव में तनाव की स्थिति देख सोमवार को पुलिस की मौजूदगी में गांव में पंचायत हुई, लेकिन कोई रास्ता नहीं निकला है।

इधर, भारतीय वाल्मिकी धर्म समाज के राष्ट्रीय मुख्य संचालक ने आरोपी हेयर ड्रेसर के खिलाफ कार्रवाई करने और बाल न काटे जाने पर धर्म परिवर्तन का अल्टीमेटम दिया है। वाल्मीकि समाज की तहरीर पर पुलिस ने चार लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

भावाधस ने चेतावनी दी कि भेदभाव जारी रहा तो धर्म परिवर्तन कर लेंगे। इसको लेकर दोनों पक्षों में बहस भी हुई है। पंचायत में मौजूद बहजोई के प्रभारी निरीक्षक रंजन शर्मा ने बताया कि अभी समाधान नहीं निकला है लेकिन चौबीस घंटे में समाधान होने की उम्मीद है।

दस हजार की आबादी वाले फत्तेपुर शमशोई गांव में 17 जातियों के लोग रहते हैं। परंपरा के मुताबिक वाल्मीकि और जाटव बिरादरी के लोग सैलून में बाल नहीं कटाते हैं ना ही सैलून वाले उनके बाल काटते हैं।

लेकिन लगभग एक महीने पहले खुले सैलून के संचालक ने हर बिरादरी के लोगों के बाल काटने का ऐलान किया जिसके बाद से विवाद की स्थिति बन गई ।

जब कुछ वाल्मीकि युवक उसके यहां बाल कटवाने पहुंचे तो गांव के ही कुछ लोगों ने इस बात पर आपत्ति जताई और सामाजिक बहिष्कार करने की धमकी दी ।

लेकिन हेयर ड्रेसर ने उनकी बात मानने से इंकार कर दिया और मामला थाने पहुंच गया । पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की तो तनाव बढ़ गया और गांव के सभी छह हेयर ड्रेसर ने अपनी दुकानें बंद कर दीं ।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT