Thursday , July 27 2017
Home / Khaas Khabar / झांसी में एक और रोहित वेमुला ने की आत्महत्या,मेडिकल कॉलेज में दलित होने की वजह से उत्पीड़न होता था

झांसी में एक और रोहित वेमुला ने की आत्महत्या,मेडिकल कॉलेज में दलित होने की वजह से उत्पीड़न होता था

हैदराबाद के दलित छात्र रोहित वेमुला की तरह अब झाँसी के एक और दलित छात्र ने बीते गुरूवार को आत्महत्या कर ली। महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कॉलेज के एमबीबीएस के दूसरे वर्ष के छात्र अश्वनी कुमार ने जातीय भेदभाव से परेशान हो कर फाँसी लगा कर आत्महत्या कर ली।

इस मामले में प्रोफेसर सहित कई लोगों पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने और दलित उत्पीड़न का केस दर्ज किया गया है।

वहीँ इस मामले में अश्वनी कुमार के बड़े भाई मनोज कुमार ने नवाबाद थाने में फार्मा विभाग के अध्यक्ष के साथ स्टाफ और एक छात्र पंकज चौधरी के ख़िलाफ़ केस दर्ज़ कराया गया हैं। उनका आरोप है कि उनका आरोप है कि अश्वनी का जाति के नाम पर उत्पीड़न किया जाता था।

मजोज ने आगे बताया, ‘अश्विनी ने कई बार फोन पर उसके साथ हो रहे जातीय भेदभाव के बारे में बताया था। उसे दलित होने के कारण टारगेट किया जा रहा था। फार्मा के हेड ने उसे धमकी दी थी कि वे उसे पास नहीं होने देंगे। सिर्फ उसी का सप्लीमेंट्री लगाया जाता था। उसे व्यक्तिगत रूप से परेशान किया जा रहा था।

मनोज ने बताया कि उन्होंने अपने भाई को तसल्ली देते हुए इन मामलों को अनदेखा करने और पढाई पर ध्यान देने को कहा था लेकिन वह उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं कर सका और ख़ुदकुशी कर ली।

इस मामले में शुक्रवार को कॉलेज अध्यक्ष डॉ.एनएस सेंगर ने अपने कार्यालय में बैठक बुलाई। इस दौरान सिटी मजिस्ट्रेट, सीओ सिटी, एंटी रैगिंग कमेटी के सदस्य और कॉलेज के शिक्षक मौजूद रहे। बैठक में कुछ शिक्षकों ने आरोप लगाया कि कॉलेज में छात्र की जाति पूछकर नंबर दिया जाते हैं।

शिक्षक की जाति आधारित तर्क पर अध्यक्ष ने बैठक में उपस्थित अन्य शिक्षकों से जवाब मांगा, तो सभी ने सिरे से आरोप को खारिज कर दिया। अध्यक्ष ने यह भी कहा कि जाति तो दूर कॉलेज में धर्म के आधार पर भी किसी का उत्पीड़न अब तक नहीं किया गया है।

अध्यक्ष डॉ. एनएस सेंगर का कहना है कि जातिवाद के आरोप पूरी तरह से निराधार हैं। इस पूरी घटना ने एक बार फिर से उच्च शिक्षण संस्थानों में छात्रों के साथ हो रहे भेदभाव को उजागर किया है।

पुलिस ने इस मामले में महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कालेज के फार्मा विभाग के अध्यक्ष सहित अन्य लोगों पर आत्महत्या के लिए उकसाने और दलित उत्पीड़न की धाराओं के तहत केस दर्ज किया है। मामले की जांच सीओ सिटी करेंगे।

 

TOPPOPULARRECENT