Monday , June 26 2017
Home / India / पीएम मोदी ने फिर दी नसीहत, कहा- तीन तलाक़ को राजनीतिक मुद्दा न बनाया जाए

पीएम मोदी ने फिर दी नसीहत, कहा- तीन तलाक़ को राजनीतिक मुद्दा न बनाया जाए

एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि मुस्लिम समाज तीन तलाक़ को राजनीतिक मुद्दा ना बनने दे । पीएम मोदी ने मुस्लिम समाज से कहा कि वे तीन तलाक के मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं होने दें और समुदाय का कोई बड़ा संगठन को इस दिशा में सुधार के लिए नेतृत्व की भूमिका निभाए। मोदी ने प्रमुख मुस्लिम संगठन जमीयत उलेमा-ए-हिंद के नेताओं से मुलाक़ात के वक़्त ये बात कही । प्रधानमंत्री कार्यालय ने बयान में कहा कि प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा है कि लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत सद्भावना और मेल-जोल में है ।

पीएमओ के मुताबिक प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार को नागरिकों में भेदभाव का कोई अधिकार नहीं है और भारत की विशेषता विविधता में एकता की है । तीन तलाक के मुद्दे पर पीएम ने एक बार फिर अपनी बात दोहराते हुए कहाकि मुस्लिम समुदाय को इस मुद्दे का राजनीतिकरण नहीं होने देना चाहिए । पीएमओ के अनुसार उन्होंने प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों से इस दिशा में सुधार शुरू करने की जिम्मेदारी लेने को कहा।

प्रतिनिधिमंडल ने भी तीन तलाक के मुद्दे पर प्रधानमंत्री के रुख की सराहना की है। मोदी का बयान माकपा नेता सीताराम येचुरी के इस बयान की पृष्ठभूमि में आया है कि तीन तलाक के खिलाफ प्रधानमंत्री का अभियान एक सांप्रदायिक मुहिम है । प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि भारत में नयी पीढ़ी को उग्रवाद की वैश्विक बयार का शिकार नहीं होने देना चाहिए। पीएमओ की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि मोदी की सोच की तारीफ करते हुए प्रतिनिधिमंडल ने उम्मीद जताई कि जनता में उनके प्रति जो ‘राष्ट्रव्यापी विश्वास’ है वह समाज के सभी तबकों की समृद्धि और कुशलता सुनिश्चित करेगा।

जमीयत उलेमा-ए-हिंद के प्रतिनिधिमंडल ने प्रधानमंत्री की आकांक्षा का जिक्र करते हुए कहा कि मुस्लिम समुदाय ‘न्यू इंडिया’ के निर्माण में बराबर का साझेदार बनना चाहता है। साथ ही कहाकि आतंकवाद एक बड़ी चुनौती है और इसके लिए उन्होंने अपनी पूरी ताकत से लड़ने का संकल्प व्यक्त किया।

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव के समय बीजेपी और पीएम मोदी ने ख़ुद तीन तलाक का मुद्दा जमकर उठाया था, हालांकि ये दूसरी बार है जब पीएम मोदी ने तीन तलाक के मुद्दे का राजनीतिकरण ना करने की अपील की है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT