Thursday , June 22 2017
Home / Bihar News / वैन नहीं मिली तो बाइक पर पत्नी के शव को घर ले गया शंकर साह

वैन नहीं मिली तो बाइक पर पत्नी के शव को घर ले गया शंकर साह

सरकारी अस्पताल में शव ले जाने वाली वैन देने से मना कर दिया और निजी एम्बुलेंस लेने में असमर्थ बिहार के पूर्णिया जिले का एक व्यक्ति अपनी पत्नी के पार्थिव शरीर को अपने गांव बाइक पर ही ले गया। पूर्णिया जिले में श्रीनगर पुलिस स्टेशन के तहत रानीबाड़ी गांव का रहने वाला शंकर साह (60) की 50 वर्षीय पत्नी सुशीला देवी का शुक्रवार को पूर्णिया सदर अस्पताल में बीमारी के कारण निधन हो गया।

 

 

शंकर कि मेरी पत्नी की मृत्यु के बाद मुझे उसका पार्थिव शरीर को ले जाने के लिए कहा गया और जब मैंने वाहन के लिए ड्यूटी पर मेडिकल स्टाफ से अनुरोध किया कि तो उन्होंने मुझे स्वयं व्यवस्था करने के लिए कहा। उसने फिर एक एम्बुलेंस के चालक से संपर्क किया जिसने 2,500 रुपये मांगे जो वह नहीं दे सकता था।

 

 

 

साह के बेटे पप्पू ने मोटरसाइकिल पर सुशीला के पार्थिव शरीर को रखा और साह के साथ अपने घर गया। दोनों पिता और पुत्र मजदूर हैं और पंजाब में काम कर रहे थे। उन्हें सूचित किया गया कि सुशीला बीमार हो गई है। वे वापस चले आये और सुशीला देवी को पूर्णिया के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां बीमारी से उनकी मृत्यु हो गई।

 

 

 

घटना के बारे में पूछे जाने पर पूर्णिया सिविल सर्जन एम एम वसीम ने कहा कि वर्तमान में अस्पताल में कोई वैन उपलब्ध नहीं है और जो है वह वह बेकार है। इसलिए हर किसी को स्वयं की व्यवस्था करनी है।

 

 

 

जिला मजिस्ट्रेट पंकज कुमार पाल ने कहा कि यह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है और इसकी जांच का आदेश दिया गया है। इस घटना में लेकर अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट (एडीएम) और सिविल सर्जन की दो सदस्यीय समिति का गठन किया गया है। समिति को दो दिनों के भीतर अपनी रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT