Wednesday , October 18 2017
Home / Featured News / DM से मजबूर माँ ने माँगा खून, ब्लड डोनर बन गए जिलाधिकारी

DM से मजबूर माँ ने माँगा खून, ब्लड डोनर बन गए जिलाधिकारी

शाहजहांपुर। जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे डीएम विजय किरन आनंद को जब एक गरीब बेबस मां ने बताया कि उनकी बेटी की जान खून न मिल पाने की वजह से जाने वाली है, तो डीएम साहब निरीक्षण छोड़ स्ट्रेचर पर लेट गए और मरीज को ब्लड डोनेट कर दिया। संयोग से डीएम का ब्लड ग्रुप एबी निगेटिव ही था, जिसकी मरीज को जरूरत थी।

इतना ही नहीं, डीएम ने ब्लड बैंक के कर्मियों को मरीज को ब्लड उपलब्ध न कराने को लेकर जमकर झाड़ भी लगाई। दरअसल सदर बाजार थाना क्षेत्र के मोहल्ला पक्का तालाब की रहने वाली 23 वर्षीय रीना बेहद गरीब परिवार से हैं। इस महिला का पति नीरज मेहनत मजदूरी करके परिवार का पेट पालता है। महिला की किडनी में दर्द की शिकायत के बाद शनिवार को उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

डॉक्टरों ने महिला के शरीर में खून की कमी बताकर 4 यूनिट ब्लड का इंतजाम करने के लिए कहा लेकिन रीना के गरीब होने की वजह से खून का इंतजाम नहीं हो पा रहा था, जिससे उसकी जान खतरे में थी। रीना के भाई राहुल की मानें तो ब्लड के लिए वह कई बार ब्लड बैंक के अधिकारियों के चक्कर लगाकर हार चुका था, लेकिन उसको ब्लड नही मिल पा रहा था। राहुल की मानें तो अधिकारी कहते थे कि तुम्हारी बहन रीना को एबी निगेटिव ब्लड चाहिए, जो उनके पास नहीं है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

तभी अचानक शाहजहांपुर के डीएम विजय किरन आनन्द निरीक्षण के लिए जिला अस्पताल पहुंच गए। डीएम ने पहले तो ट्रामा सेंटर पहुंचकर लोगों से बात की, वहां पर सब ठीक-ठाक मिला तो उसके बाद वे अस्पताल में मरीजों से मिलकर उनकी दिक्कतें पूछने लगे। उसके बाद डीएम विजय किरन आनन्द ने ब्लड बैंक की ओर रूख किया।
उन्होंने ब्लड बैंक के रजिस्टरों को चेक किया और स्टॉक के बारे में जानकारी ली। डीएम ब्लड बैंक से बाहर आ ही रहे थे कि तभी अस्पताल में भर्ती रीना की मां डीएम के पास पहुंच गई और हाथ जोड़कर उनसे अपनी बेटी के लिए मदद मांगने लगी।

यह देखकर ब्लड बैंक की अधिकारियों में हडंकप मच गया। डीएम ने उस महिला से बात की और उसकी दिक्कत के बारे में जाना तो उन्होंने ब्लड बैंक के अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। डीएम ने कहा कि किसी महिला की जान जा रही है और आप लोगों को ब्लड के बदले ब्लड चाहिए। डीएम ने तुरंत अपना खून निकालने का आदेश दिया। डीएम ने एक यूनिट खून दिया और स्टॉक में रखा एक यूनिट खून भी उस महिला को दिलवाया, जिसके बाद रीना की जान बचाई जा सकी।

डॉक्टरों ने कहा है कि उसकी किडनी में प्रॉब्लम है जिसका इलाज यहां नहीं हो सकता। डॉक्टरों ने उसे लखनऊ पीजीआई रेफर कर दिया है। अब रीना की मां ने एक बार फिर डीएम विजय किरन आनन्द से मदद की गुहार लगाई है कि ताकि रीना की जान बचाई जा सके। सीएमएस केशव स्वामी ने बताया कि बीते शनिवार को रीना को अस्पताल में भर्ती किया गया था। उसकी किडनी फेल हो रही है। साथ ही उसके हार्ट में भी प्रॉब्लम है।

साभार -hindi.eenaduindia.com

TOPPOPULARRECENT