Sunday , May 28 2017
Home / Uttar Pradesh / UP: जब बाप के कंधे पर थी बेटे की लाश, तब डिप्टी CM कर रहे थे गौ एंबुलेंस की शुरुआत

UP: जब बाप के कंधे पर थी बेटे की लाश, तब डिप्टी CM कर रहे थे गौ एंबुलेंस की शुरुआत

लखनऊ- इटावा में एक मजदूर बाप अपने बेटे की लाश को कंधे पर लेकर घर पहुंचा, क्योंकि उसे बेटे का शव ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिली तो वहीं दूसरी तरफ सूबे के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य गायों के लिए एंबुलेंस सेवा की शुरूआत कर रहे थे.

गौ एंबुलेंस में वेटेनिरी डॉक्टर और सहायक सभी मौजूद रहेंगे. इसे गौ चिकित्सा मोबाइल एंबुलेंस का नाम दिया गया है जो घायल गायों को गौशाला या वेटेनिरी अस्पताल तक ले जाएगी.
मजदूर कल्याण संगठन के साथ मिलकर शुरू की गई ये एंबुलेंस सेवा लखनऊ, गोरखपुर, वाराणसी, मथुरा और इलाहाबाद में चलेगी.

लेकिन इटावा के सरकारी अस्पताल ने एक मजदूर को उसके बेटे का शव ले जाने के लिए एंबुलेंस तक नहीं दी. बेबस लाचार पिता उदयवीर के मुताबिक ‘ बेटे के पैरों में दर्द था जिसे दिखाने में अस्पताल आए थे लेकिन जब वो अस्पताल पहुंचे तो डॉक्टरों ने दो मिनिट की जांच में ही बेटे को मृत घोषित कर दिया. अस्पताल प्रशासन ने मज़दूर पिता को एंबुलेंस नहीं दी और पिता अपने बेटे की लाश को कंधे पर उठाकर घर पहुंचा ।

ये कोई पहला वाकया नहीं है जब यूपी के सरकारी अस्पताल में इस तरह की अव्यव्स्था और ग़ैर ज़िम्मेदारी दिखाई हो, ज़रूरी है कि पहले प्रदेश की स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर बनाने पर ध्यान दिया जाए ।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT