Saturday , July 22 2017
Home / Khaas Khabar / यूपी चुनाव से पहले हुई हत्या के मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश

यूपी चुनाव से पहले हुई हत्या के मामले को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश

उत्तर प्रदेश: बिजनौर में कल हुई एक युवक की हत्या के मामला में पुलिस ने आठ लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। लेकिन यूपी चुनाव से ठीक पहले हुई इस घटना को लेकर अफवाहों का बाज़ार गर्म हो गया है और इलाके में सांप्रदायिक हिंसा का माहौल बनाया जा रहा है।

मामला कुछ यूँ है कि नयागांव निवासी संजय सिंह 18 वर्षीय बेटे विशाल के साथ शुक्रवार शाम खेत पर ट्यूबवेल बंद करने गए थे। वहां पहले से मौजूद लोगों ने इन पर हमला बोल दिया। विशाल को दो गोलियां मारीं, जबकि संजय सिंह पर चाकू से हमला कर दिया।

पता चलते ही सैकड़ों लोग मौके पर पहुंच गए और नारेबाजी करते हुए नजीबाबाद मार्ग जाम कर दिया। भीड़ ने दूसरे संप्रदाय के लोगों पर हत्या का आरोप लगाते हुए तत्काल गिरफ्तारी की मांग की है।

वहीँ प्रदर्शन में शामिल होने बिजनौर सदर से भाजपा उम्मीदवार सूची चौधरी और आरएलडी उम्मीदवार राहुल सिंह भी पहुंचे हुए हैं।

इस मामले में हत्या के आरोपियों के मज़हब को बीच में लाकर इलाके में सांप्रदायिक रंग देने की पूरी कोशिश भी की जा रही है। जिसका सीधा फायदा किसी राजनीतिक पार्टी को मिल सकता है।

मौके पर एसपी अजय कुमार साहनी कई थानों की फोर्स के साथ पहुंचे। अन्य जनपदों से भी पुलिस बुला ली गई है। एसपी अजय साहनी का कहना है कि घटना के संबंध में अभी कुछ भी स्पष्ट रूप से नहीं कहा जा सकता। लोग आक्रोशित हैं।सभी पहलुओं पर जांच की जाएगी।

लेकिन बिजनौर (सदर) सीट से सपा विधायक रुचि वीरा ने फेसबुक पर पोस्ट डालकर लोगों से अफवाहों पर ध्यान ना देने की अपील की और इसके साथ इलाके में भारी मात्रा में पुलिस तैनात की गई है।

मामला संवेदनशील हो जाने से बिजनौर शहर का बाजार भी बंद हो गया।

TOPPOPULARRECENT