Monday , September 25 2017
Home / Kashmir / कश्मीर में सोशल मीडिया पर लगाम,10 हज़ार फेसबुक और 500 व्हाट्सएप ग्रुप्स ब्लॉक

कश्मीर में सोशल मीडिया पर लगाम,10 हज़ार फेसबुक और 500 व्हाट्सएप ग्रुप्स ब्लॉक

जम्मू-कश्मीर में अलगाववादियों और आतंकियों से निपटने के लिए अब सोशल मीडिया पर लगाम कस रही है। इसी कड़ी में  10,000 फेसबुक अकाउंट्स और 500 व्हाट्सएप ग्रुप ब्लॉक किए गए हैं। दावा है कि इन अकाउंट्स और ग्रुप्स के ज़रिए अलगाववादी कश्मीरी युवाओं में नफ़रत भर रहे थे। कश्मीर के पुलिस महानिदेशक शेष पाल वेद ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहाकि कश्मीर में अलगाववादी समूह सोशल मीडिया के ज़रिए युवाओं को भारत के ख़िलाफ भड़का रहे हैं और आतंक के राह पर चलने के लिए तैयार कर रहे हैं।

पुलिस महानिदेशक ने कहाकि कहा कि 300 से ज्यादा व्हाट्सएप ग्रुप पर आतंकवादी समूह का नियंत्रण था, साथ ही अलगाववादी फेसबुक जैसी अन्य सोशल नेटवर्किंग वेबसाइटों का भी उपयोग कर रहे हैं जिस पर प्रशासन की नज़र थी। अलगाववादी सोशल मीडिया का इस्तेमाल युवा लड़कों को उन जगहों तक पहुंचाने के लिए करते हैं जहां सुरक्षा बलों और आतंकियों में मुठभेड़ होती है। ऐसी जगहों पर जमा हुए युवा सुरक्षावलों पर पथराव करते हैं जिसका फायदा उठाकर आतंकी भाग जाते हैं।

लोकल मीडिया के मुताबिक ब्लॉक किए गए फेसबुक अकाउट्स और  व्हाट्सअप ग्रुप पाकिस्तान की मदद से संचालित आंतकवादी समूहों के साथ संपर्क में थे। हालांकि सोशल मीडिया पर बंद अकाउंट्स दूसरे नामों से शुरु हो सकते हैं इसलिए पुलिस और प्रशासन दोनों के लिए ये कड़ी चुनौती है कि कश्मीर के युवाओं को इस जाल से दूर रख पाए।

गृह मंत्री राजनाथ सिंह पहले ही कह चुके हैं कि पाकिस्तान सोशल मीडिया का इस्तेमाल कर कश्मीरी मुस्लिम युवाओं को उकसाने का काम करता है। उन्होंने कहा था कि संघर्षग्रस्त क्षेत्र ने एक नया रुझान देखने को मिल रहा है, राजनाथ सिंह ने युवाओं से पाकिस्तान के बहकावे में ना आने की अपील भी की थी ।

TOPPOPULARRECENT