Monday , June 26 2017
Home / Khaas Khabar / मोदी राज के अच्छे दिन: जंतर-मंतर पर एक महीने से धरना दे रहे किसान घास खाने को मजबूर

मोदी राज के अच्छे दिन: जंतर-मंतर पर एक महीने से धरना दे रहे किसान घास खाने को मजबूर

तमिलनाडु से आकर दिल्ली के जंतर-मंतर पर बैठे किसान आज घास खाने को मजबूर हैं। अन्न दाता कहलाने वाला किसान पिछले एक महीने से जंतर-मंतर पर बैठ कर केंद्र सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन कर रहा है। लेकिन प्रशासन के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही।

खुद को किसानों की हिमायती के तौर पर पेश करने वाली मोदी सरकार इनको नजरअंदाज करने में लगी है। ये किसान पिछले एक महीने से यहाँ कर्ज माफी और राहत पैकेज की मांग कर रहे हैं।

लेकिन इनकी सुध लेने वाला कोई भी नहीं है। किसानों का कहना है कि मोदी सरकार तक अपनी आवाज़ पहुंचाने के लिए हमने हर मुमकिन कोशिश की है लेकिन सरकार उनकी सुनवाई नहीं कर रही है।

गौरतलब है कि देश में किसानों की आत्महत्या के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। तामिलनाडु के ये किसान भयंकर सूखे की मार झेल रहे हैं।

इस दौरान मीडिया के जरिये सरकार का ध्यान खींचने के लिए इन किसानों ने नरमुंडों के साथ धरना देने और मरे हुए सांपों को जीभ पर रखकर प्रदर्शन करने जैसे तरीके अपनाए हैं।

लेकिन फिलहाल सरकार की तरफ से इनको कोई मदद मुहैया नहीं करवाई गई है। नतीजतन आज ये किसान घास खाने को मजबूर हैं।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT