Sunday , June 25 2017
Home / Delhi News / अगर PM मोदी यूपी के गोद लिए बेटे हैं तो अपने भाई नजीब को ढूँढ कर लाएँ: माँ फ़ातिमा

अगर PM मोदी यूपी के गोद लिए बेटे हैं तो अपने भाई नजीब को ढूँढ कर लाएँ: माँ फ़ातिमा

pic: .indiatomorrow.net

नई दिल्ली। जेएनयू से लापता छात्र नजीब अहमद की माँ फातिमा नफीस ने बुधवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से आग्रह किया है कि यदि वो उत्तर प्रदेश के दत्तक पुत्र हैं तो मेरे लापता बेटे को तलाश कर अपने इस सम्बन्ध को साबित करें। गौरतलब है कि पिछले दिनों प्रधानमंत्री ने एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए खुद को यूपी द्वारा गोद लिया हुआ पुत्र कहा था। उनके इस बयान पर नजीब की माँ ने कहा कि नजीब का ताल्लुक यूपी के बदायूं जिले से है ऐसे में वो अपने भाई नजीब को तलाश कर अपने रिश्ते को सिद्ध करें।

बुधवार को मानव संसाधन मंत्रालय के बाहर सैंकड़ों युवाओं और छात्रों को संबोधित करते हुए फातिमा नफीस ने कहा कि मोदीजी ने कहा था कि वो यूपी के बेटे हैं। यदि वो यूपी के बेटे हैं तो क्यों अपना भाई नजीब उनके ध्यान में नहीं है जो लापता है और अभी तक उसका कुछ पता नहीं चला है। उन्हें इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए और नजीब को तलाशने के लिए उचित कार्रवाई करनी चाहिए।

मुझे आशा है कि यदि मोदीजी ऐसा करते हैं तो ही नजीब मिल सकता है। मानव संसाधन मंत्रालय के बाहर नजीब के लापता होने को लेकर प्रदर्शन कर रहे थे। गौरतलब है कि जेएनयू में बायो टेक्नोलॉजी में स्नातकोत्तर प्रथम वर्ष का छात्र नजीब 15 अक्टूबर 2016 से लापता है। बीजेपी की छात्र ईकाई एबीवीपी से उसकी कहासुनी हुई थी इसके बाद से वह लापता है। इस प्रदर्शन में जेएनयू, जामिया मिलिया और दिल्ली विश्वविद्यालय के छात्रों के साथ ही एसआईओ के सदस्यों, सामाजिक कार्यकर्ताओं और समुदायिक नेता भी उपस्थित थे।

इस मौके पर डॉ बी आर अम्बेडकर के पौत्र प्रकाश अंबेडकर ने कहा कि पिछले चार महीनों के दौरान नजीब को लेकर विभिन्न विश्वविद्यालयों में आंदोलन किये लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई है। यह जनता की नहीं बल्कि स्वार्थी सरकार है। सरकार नजीब को तलाश नहीं कर पा रही है। हम अपने आंदोलन को जारी रखेंगे और इसमें तेजी लाएंगे और जरुरत पड़ी तो सड़कों पर भी उतरेंगे। लापता जेएनयू छात्र नजीब अहमद के लिए 22 फ़रवरी से लोग मानव संसाधन विकास मंत्रालय के बाहर विरोध कर रहे हैं।
ऑल इंडिया मुस्लिम मजलिस ए मुशावरत के पूर्व अध्यक्ष डॉ ज़फरुल इस्लाम खान ने छात्रों को संबोधित करते हुए कहा कि यह पुलिस की बड़ी विफलता है कि वह नजीब का पता लगाने और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के खिलाफ कोई भी कार्रवाई करने में नाकाम रही है। वेलफ़ेयर पार्टी ऑफ़ इंडिया के अध्यक्ष डॉ एस क्यू आर इलियास ने भी उपस्थित छात्रों को संबोधित किया।

प्रदर्शन के पश्चात नजीब की मां के साथ छात्र शिष्टमंडल ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय में संयुक्त सचिव से मुलाकात की और मामले में त्वरित न्याय की मांग की। अधिकारी ने उनकी मदद करने का आश्वासन दिया। नजीब की माँ फातिमा ने आशा व्यक्त की कि विभाग के अधिकारी नजीब को तलाशने में उनकी मदद करेंगे। उन्होंने मेरे साथ सहानुभूति जताई है। मैंने उनसे कहा कि सब मदद आदि की बात कह तो देते हैं लेकिन कोई सहानुभूति नहीं दिखाता।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT