Friday , July 21 2017
Home / India / मुश्किल में अरनब गोस्वामी, दर्शक बढ़ाने के घोटाले के बाद अब कंटेंट चोरी का आरोप, FIR दर्ज

मुश्किल में अरनब गोस्वामी, दर्शक बढ़ाने के घोटाले के बाद अब कंटेंट चोरी का आरोप, FIR दर्ज

टाइम्स नाउ के पूर्व पत्रकार और अब रिपब्लिक टीवी के अरनब गोस्वामी मुश्किल में फंस सकते हैं। टाइम्स ग्रुप ने अरनब गोस्वामी पर कंटेंट चोरी करने के आरोप लगाएं हैं।

दरअसल रिपब्लिक टीवी लॉंच होने के बाद शो में अरनब गोस्वामी ने दो बड़े खुलासे करने का दावा किया था। रिपब्लिक टीवी ने ऑडियो टेप्स के जरिए दावा किया था कि आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव जेल में बंद बाहुबली नेता शाहबुद्दीन से बातचीत कर रहे हैं।

दूसरे में रिपब्लिक टीवी ने सुनन्दा पुष्कर की रहस्यमय मृत्यु पर भी कथित ऑडियो टेप्स के जरिए खुलासा करने का दावा किया था। इसमें रिपब्लिक टीवी की पत्रकार प्रेमा श्रीदेवी की सुनंदा पुष्कर से बातचीत दिखाई गई है। जिस समय यह बातचीत हुई उस समय प्रेमा श्रीदेवी टाइम्स ग्रुप की पत्रकार थीं।

इन दो ऑडियो टेप्स को लेकर टाइम्स नाउ की मदर कंपनी बीसीसीएल ग्रुप ने अरनब पर कंटेंट चोरी के आरोप लगाए हैं।

बीसीसीएल ने मुंबई के आजाद मैदान पुलिस स्टेशन में अरनब और प्रेमा श्रीदेवी पर कॉपीराइट्स का उल्लंघन करने के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। रिपोर्ट्स के मुताबिक बीसीसीएल ने सेक्शन 378, 379, 403, 405 के तहत और आईपीसी की धारा 406, 409, 411, 414 418 और आईटी ऐक्ट, 2000 की धारा 66-B, 72 और 72-A के तहत कम्प्लेंट दर्ज कराई है।

बीसीसीएल का दावा है कि ये ऑडियो टेप्स उस समय अरनब और प्रेमा श्रीदेवी के पास थे जब वे टाइम्स ग्रुप के कर्मचारी थे। वहीं बीसीसीएल का यह भी दावा है कि अरनब और श्रीदेवी दोनों ने 8 मई 2017 को सुनंदा पुष्कर ऑडियो टेप्स के प्रसारण के समय इस बात को कहा था कि यह टेप्स उनके पास बीते दो सालों से मौजूद थे। यानी कि बीसीसीएल के दावे के मुताबिक टेप्स उनके पास तब से थे जब वे टाइम्स ग्रुप का हिस्सा थे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीसीसीएल ने अपनी शिकायत में यह भी कहा है कि गोस्वामी और श्रीदेवी, दोनों ने ही जानबूझकर टाइम्स नाउ की प्रॉपर्टी का गलत इस्तेमाल किया है। ऐसे में प्रॉपर्टी का गलत इस्तेमाल करने को लेकर उन्हें आईपीसी के सेक्शन 403 और अन्य धाराओं के तहत सजा मिलनी चाहिए।

बता दें कि इससे पहले न्‍यूज़ ब्रॉडकास्‍टर्स एसोसिएशन (एनबीए) ने भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राइ) को एक चिट्ठी भेजी थी जिसमें रिपब्लिक टीवी पर आरोप लगाया है कि ज्‍यादा दर्शकों की संख्‍या जुटाने के चक्‍कर में इस चैनल ने वितरण का अनैतिक तरीका अपनाया है।

 

TOPPOPULARRECENT