Thursday , August 17 2017
Home / India / गुजरात में विधायकों के इस्तीफ़ों से गुस्साई कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से की BJP की शिकायत,EC ने गुजरात सरकार से मांगा जवाब

गुजरात में विधायकों के इस्तीफ़ों से गुस्साई कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से की BJP की शिकायत,EC ने गुजरात सरकार से मांगा जवाब

गुजरात में विधायकों के इस्तीफ़ों से नाराज़ कांग्रेस ने बीजेपी की शिकायत चुनाव आयोग से की है। कांग्रेस ने शनिवार को चुनाव आयोग में अर्जी दाखिल कर गुजरात में तीन राज्यसभा सीटों के लिए होने जा रहे चुनाव स्वतंत्र और निष्पक्ष तरीके से कराने और सत्ताधारी बीजेपी की ओर से सत्ता और अधिकारों के कथित दुरुपयोग की उच्च स्तरीय जांच कराने की मांग की है।

कांग्रेस की मांग पर चुनाव आयोग ने गुजरात सरकार से इस रिपोर्ट मांगी है। आयोग के प्रवक्ता ने कहा कि गुजरात के मुख्य सचिव से 31 जुलाई को शाम 5 बजे तक रिपोर्ट देने को कहा गया है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी गुजरात में उसके विधायकों के खरीद-फरोख्त में शामिल है। कांग्रेस ने राज्य में राज्यसभा चुनाव स्वतंत्र माहौल में कराने की मांग की।

निर्वाचन आयोग के प्रवक्ता ने कहाकि ‘कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल द्वारा सौंपे गए ज्ञापन के बाद गुजरात सरकार से रिपोर्ट मांगी गई है । ‘ उन्होंने कहा कि आयोग ने राज्य सरकार को सभी विधायकों और उनके परिजनों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का आदेश दिया है।
शनिवार को कांग्रेस के एक शीर्ष प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य चुनाव आयुक्त अचल कुमार ज्योति से मुलाकात कर उनसे खरीद-फरोख्त के आरोपों की जांच के लिए एक उच्च स्तरीय कमिटी के गठन की मांग की। प्रतिनिधिमंडल ने साथ ही सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा राज्यसभा के परिणाम को प्रभावित करने के लिए सत्ता और पैसे के दुरुपयोग पर चुनाव आयोग को एक ज्ञापन भी सौंपा।

कांग्रेस पार्टी ने यह मांग भी की कि इस मामले की रिपोर्ट एक तय समयसीमा में आनी चाहिए। ज्ञापन में मांग की गई, ‘ कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे और दल-बदल कराने के मकसद से धनबल, बाहुबल और सरकारी मशीनरी के धड़ल्ले से किए जा रहे दुरुपयोग की जांच के लिए हम स्वतंत्र लोगों या अधिकारियों की एक उच्च-स्तरीय समिति के गठन की मांग करते हैं।’

कांग्रेस नेताओं की ओर से सौंपे गए ज्ञापन में कहा गया कि समिति को निर्देश दिया जाए कि वह उन सभी विधायकों से मिलकर बीजेपी की ओर से प्रत्यक्ष या परोक्ष तौर पर धन और पद की पेशकश के बारे में पूछे ताकि आरोपों को सही तरीके से दर्ज किया जा सके और कानून के तहत कार्रवाई के लिए इसे ठोस रूप दिया जा सके।

कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल में राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद और पार्टी के उपनेता आनंद शर्मा, विवेक के तनखा, अभिषेक मनु सिंघवी और मनीष तिवारी शामिल थे। आजाद ने कहा कि केंद्र और गुजरात की सरकार राज्य में राज्यसभा चुनावों के मद्देनजर कांग्रेस विधायकों का दल-बदल करा रही है और उन्हें टिकट एवं धन का लालच दिया जा रहा है और धमकाया जा रहा है और पुलिस-प्रशासन को दल-बदल के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।
आज़ाद ने पत्रकारों से कहा, ‘ ‘हमने चुनाव आयोग से अफसोस जाहिर किया कि ऐसी घटनाएं एक ऐसे राज्य में हो रही हैं जहां से प्रधानमंत्री आते हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण चीज है कि सत्ताधारी पार्टी विपक्षी विधायकों को तोड़ने में लगी हुई है। हम अपने विधायकों को कर्नाटक ले गए हैं।’

TOPPOPULARRECENT