Monday , September 25 2017
Home / Hyderabad News / अगर गोधरा काण्ड नहीं हुआ होता तो नरेंद्र मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बनते: शंकराचार्य निश्चलानंद

अगर गोधरा काण्ड नहीं हुआ होता तो नरेंद्र मोदी कभी प्रधानमंत्री नहीं बनते: शंकराचार्य निश्चलानंद

हैदराबाद। पुरी पीठ के जगदगुरू शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद ने कहा है कि भाजपा गाय के मुद्दे और राम भक्तों की मेहनत से सत्ता में आई है। यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि आडवाणी और वाजपेयी ने राम रथ पर सवार होकर सत्ता संभाली थी। अगर गोधरा काण्ड नहीं हुआ होता तो नरेंद्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री भी नहीं रहते और प्रधानमंत्री भी नहीं बनते।

शंकराचार्य ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री वाजपेयी के लिए बिना बहुमत वाली सरकार का मसला था लेकिन मोदी के लिए ऐसा कोई बहाना नहीं है। उनके पास बहुमत है और उन्हें अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण करना चाहिए। नहीं तो अभियान फिर से शुरू किया जाएगा और मंदिर निश्चित रूप से बनाया जाएगा। उन्होंने यह भी कहा कि राम जन्म भूमि पर उत्खनन प्रामाणिक था।

उन्होंने उन राजनीतिज्ञों की आलोचना की जो राम मंदिर के निर्माण में बाधाएं पैदा कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जब वेटिकन सिटी को राज्य का मुख्यालय घोषित किया जा सकता है तो चार शंकराचार्यों की पीठ को धार्मिक पूंजी के रूप में क्यों घोषित नहीं किया जा सकता।

इस दौरान शंकराचार्य ने जवाहरलाल नेहरू, इंदिरा गांधी, सोनिया गांधी, रॉबर्ट वाड्रा, वसुंधरा राजे सिंधिया और मुलायम सिंह यादव पर हिंदू धर्म को नष्ट करने का आरोप लगाया।

TOPPOPULARRECENT