Saturday , June 24 2017
Home / Uttar Pradesh / गुलशाफ़ ने जिसे क़ाफिल समझकर रचाई शादी, वो निकला कपिल यादव, आधार कार्ड से खुला राज़

गुलशाफ़ ने जिसे क़ाफिल समझकर रचाई शादी, वो निकला कपिल यादव, आधार कार्ड से खुला राज़

इलाहाबाद- लव जिहाद के मुद्दे को हवा देकर यूपी में जबरदस्ती राजनीति की गई । मुस्लिमों को घेरा गया और प्यार करने वालों को लव जिहादी की परिभाषा दे दी गई । लेकिन प्रतापगढ़ में लव जिहाद का उल्टा मामला सामने आया है । यानि कि यहां लड़का मुस्लिम नहीं बल्कि हिंदू है । इस हिंदू लड़के ने मुस्लिम बनकर मुस्लिम लड़की से धोखे से निकाह कर लिया ।

हिंदू लड़के ने मुस्लिम बनकर गुलशाफ़ बानो से निकाह किया। लेकिन एक दिन आधार कार्ड से राज़ खुल गया कि जिसे वो काफ़िल समझ रही थी असल में वो कपिल था । कपिल का राज़ फाश होने के बाद उसने गुलशाफ़ को साथ रखने से इंकार कर दिया । पीड़िता ने मामले की शिकायत स्थानीय थाने में की लेकिन सुनवाई नहीं हुई। अब युवती अपनी मां के साथ अब अधिकारियों के चौखट पर न्याय की गुहार लगा रही है।

प्रतापगढ़ के सिप्टैन रोड निवासी गुलशाफ बानो ने थाने में शिकायत करते हुये बताया कि उसकी मुलाकात एक मोबाइल के दुकान पर कपिल से हुई थी । मोबाइल की दुकान पर अक्सर रीचार्ज कराने जाया करती थी। धीरे-धीरे दोनो परिचित हुये तो दुकानदार से रीचार्ज के बहाने बातचीत भी होने लगी।

गुलशाफ का आरोप है दुकानदार ने अपना नाम काफिल अहमद बताया था। बातचीत कब दोस्ती से प्यार में बदल गई दोनों को पता ही नहीं चला और जल्द ही दोनों एक साथ जीने मरने की कसमे खाने लगे। 2016 में कफील और गुलशाफ का पुरानी मस्जिद में निकाह हो गया।

कफील अपनी बेगम को लेकर दिल्ली चला गया और वहीं चांदनी चौक में कमरा लेकर रहने लगे। कफील ने नौकरी कर ली और गृहस्थी बनानी शुरू कर दी। लेकिन समय बीतने के साथ पति-पत्नी के रिश्ते में नोंक झोक शुरू हो गयी। गुलशाफ का आरोप है कि वह दो बार प्रेग्नेंट भी हुई लेकिन कफील ने उसे जबरन दवा खिलाकर गर्भपात करा दिया।

गुलशाफ ने बताया कि एक दिन कपड़ा धुलते समय कफील की जेब से उसका आधार कार्ड मिला। आधार कार्ड पर उसका नाम कपिल यादव पुत्र सुरेश चंद्र यादव पता रानीगंज प्रतापगढ़ लिखा था। गुलशाफ के लिये यह बहुत बड़ा झटका था कि उसका पति मुस्लिम नही बल्कि हिंदू है यानी जिसे अब तक वह कफील समझ रही थी वह कपिल था और उसे धोखा दे रहा था। जब गुलशाफ ने पूछताछ की तो कफील उर्फ कपिल ने उसे जमकर पीटा।

पिछले माह मई में कफील उर्फ कपिल गुलशाफ को लेकर प्रतापगढ़ आया और अपनी ससुराल में रहने लगा। ससुराल में सिर्फ गुलशाफ की मां ही थी । लगभग 10 दिन पहले कपिल अचानक गायब हो गया। गुलशाफ ने उसी आधार कार्ड के सहारे खोजबीन शुरू की और ढूंढते ढूंढते कपिल के घर पहुंच गई । तो पता चला कपिल दूसरी शादी की तैयारी में है।

गुलशाफ जब कपिल से झगड़ा करने लगी तो कपिल ने गुलशाफ को साथ रखने से इन्कार कर दिया और कहा कि “तुम मुस्लिम हो, तुम्हें साथ नहीं रख सकता। इसमें मेरी बेइज्जती होगी। पुलिस के पास पहुंचा मामला घटना से आहत गुलशाफ थाने पहुंची लेकिन थाने में फरियाद नहीं सुनी गई। जब एसपी से गुलशाफ ने फरियाद लगाई तो कार्रवाई का आश्वासन मिला है।

लेकिन बड़ी अचरज की बात है एसपी साहब ने मामले को फिर से उसी थाने में जांच के लिये भेजा है। जहां गुलशाफ की बात सुनने को कोई तैयार नहीं है। मामले में एसपी प्रतापगढ़ शगुन गौतम ने बताया कि हां इस तरह का मामला संज्ञान में आया है। मामला नगर कोतवाली है। मैंने इसकी जांच नगर कोतवाली भेज दी है। जांच की जा रही है। उसके आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT