Friday , October 20 2017
Home / Khaas Khabar / इंसानियत: दुर्गा पूजा का खर्च कम करके बांग्लादेश के हिन्दू रोहिंग्या मुसलमानों की मदद करेंगे

इंसानियत: दुर्गा पूजा का खर्च कम करके बांग्लादेश के हिन्दू रोहिंग्या मुसलमानों की मदद करेंगे

कॉक्स बाजार: मुसलमानों की ‘जातीय सफाई’ के बीच बांग्लादेश हिंदुओं ने एक बहुत ही नेक काम किया है, वह रोहंग्या में आशा की किरण लेकर आयें है, क्योंकि उन्होंने आगामी दुर्गा पूजा के खर्चों में कटौती के लिए शुक्रवार को फैसला किया है।

म्यांमार में क्रूर हिंसा के बाद देश में शरणार्थियों को राहत देने वालों द्वारा राहत मुहैया कराया जाएगा।

इससे पहले, सिख समुदाय से खलसा सहायता लंगर और बुनियादी सुविधाओं को फंसे हुए मुसलमानों को वितरित करने के लिए पहुंची थी, जो बारिश और बाढ़ वाले शिविरों के बावजूद कहीं भी नहीं जा सकते थे।

अत्याचारों से बचने के लिए 420,000 से अधिक रोहिंग्या म्यांमार के रखीन राज्य से भाग गए। रिपोर्ट बताती है कि हिंसा ने बांग्लादेश में शरण लेने के लिए कुछ 800 हिंदुओं को भी राखीन राज्य में मजबूर किया गया।

पूजा उत्सव परिषद के महासचिव ने कहा, “उनके बड़े पैमाने पर पलायन ने एक भयावह मानवतावादी संकट का खुलासा किया है (और इसलिए) हम दुर्गा पूजा उत्सव के दौरान मदद करेंगे और सताए हुए शरणार्थियों के साथ खड़े होंगे।”

उन्होंने कहा कि बांग्लादेश में पूजा उत्सव समितियों को रोहंगिया शरणार्थियों के लिए राहत प्रदान करने के लिए एक फंड स्थापित करने के लिए कहा गया है।

बांग्लादेश ने 25 अगस्त को बौद्ध वर्चस्व वाले म्यांमार के रखीन राज्य में हिंसा के बाद से रोईंग्या मुसलमानों से अभिभूत हो गए हैं।

म्यांमार में रोहंग्या को अवैध आप्रवासियों के रूप में माना जा रहा है।

TOPPOPULARRECENT