Saturday , August 19 2017
Home / Delhi News / IAS टॉपर टीना डाबी और सेकेंड टॉपर अतहर खान जल्द ही करेंगे शादी

IAS टॉपर टीना डाबी और सेकेंड टॉपर अतहर खान जल्द ही करेंगे शादी

नई दिल्ली। हाल ही में यूपीएसी टॉपर टीना डाबी और अतहर आमिर-उल-शफी खान की सगाई की चर्चा सोशल मीडिया में खुब हो रही थी। खबर का सोर्स था टीना डाबी का फेसबुक अकाउंट जिसमें टीना ने यूपीएसी के सेकंड नंबर टॉपर अतहर अली से अपने रिश्ते को कबूला था। इसलिये ये एक संशय का विषय बना हुआ था। लेकिन सारे संशय को खत्म करते हुए टीना ने टाइम्स ऑफ इंडिया को दिये इंटरव्यू में आज स्वीकारा है कि वो जल्द ही यूपीएससी सेकंड नंबर टॉपर अतहर आमिर- उल शाफी खान के साथ रिश्ते में बंधने वाली है। फिलहाल उन दोनों की मसूरी के लाल बहादुर शास्त्री नेशनल अकॉडमी फॉर एडमिनिस्ट्रेशन में ट्रेनिंग चल रही है
received_1287684797950525
सोशल मीडिया टीना के इस प्यार को हर पहलू से स्कैन किया जा रहा था। किसी को इसमें धार्मिक एंगल नजर आ रहा था और किसी को एक दलित और मुसलमान का मिलन और किसी को इस प्यार में ब्रह्माणवाद से बगावत दिख रही थी। बाते इतनी हो रही थी की टीना को खुद नहीं मालूम होगा अपने जिंदगी के हमसफर चुनने को को इतने आयाम से देखा जायेगा। टाइ्म्स ऑफ इंडिया को दिये गये इंटरव्यू में वो कहती है कि 11 मई को अतहर नॉर्थ ब्लॉक स्थित डिपॉर्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड के दफ्तर में मिले तो पहली नजर में ही उनसे प्यार हो गया। टीना कहती है कि हम सुबह मिले और शाम में अतहर मेरे दरवाजे पर थे। अतहर की संजीदगी और धीरज ने मुझे उनसे प्यार करने पर मजबूर कर दिया। अतहर वाकई एक अच्छे इंसान है।

अपने रिश्ते को मजहबी चश्मे से देखे जाने पर टीना परेशान है। बकौल टीना कुछ लोगों ने जातिगत टिप्पणी भी किए, कुछ लोगों ने धर्म को लेकर भी सवाल किए लेकिन टीना का मनाना है कि प्रेम करना कोई गुनाह नहीं है। वो कहती है कि जब हम किसी दूसरे के धर्म के रिश्ता बांधने की कोशिश करते हैं तो लोग नकारत्मक बातें करना शुरु कर देते हैं। बात बस इतनी सी है कि अतहर मैं हम दोनों एक दूसरे को पसंद करते हैं। हालांकि ऐसे रिश्तों पर उंगली उठाने वालों की संख्या 5 फीसदी है ज्यादातर लोग हमारे रिश्ते से खुश हैं।

आईएएस टॉपर से जब यह सवाल किया गया कि दलित समाज आपको एक आईकॉन की तरह देखता है तो इस पर टीना ने जबाव देते हुए कहा कि वो ऐसा नहीं मानती। भारतीय समाज में ऐसी मान्यता है कि दलित कभी आईएएस टॉप नहीं कर सकता। इसलिये मैं ऐसे स्टूडेंट को आगे कर सकूं जो ये पूर्वाग्रह को तोड़ सके तो मेरे लिये यही बड़ी बात होगी।

TOPPOPULARRECENT