Sunday , August 20 2017
Home / Punjab / Haryana / वर्णिका की बहादुरी पर बोले IAS पिता- बेटी पर गर्व है, मुझे परेशानी होगी लेकिन लड़ूंगा, पीछे नहीं हटूंगा

वर्णिका की बहादुरी पर बोले IAS पिता- बेटी पर गर्व है, मुझे परेशानी होगी लेकिन लड़ूंगा, पीछे नहीं हटूंगा

बहादुर बेटी को पिता साथ मिला है । हम बात कर रहे हैं चंडीगढ़ छेड़छाड़ कांड में पीड़ित वर्णिका कुंडू और उनके आईएएस पिता वीरेंद्र कुंडू की ।

आईएएस अफसर ने बेटी की बहादुरी की तारीफ करते हुए फेसबुक पर लिखा है कि ना झुकूंगा और ना ही इस लड़ाई में पीछे हटूंगा तथा आखिरी तक लड़ाई लड़ता रहूंगा। आईएएस अधिकारी ने अपनी पोस्ट में लिखा- “मुझे पता है कि इस फैसले के बाद तुम्हें जो तकलीफें और मुश्किलें झेलनी पड़ेंगी, वह मेरी तकलीफों से कई गुना ज्यादा होंगी।

बेटी की हिम्मत बनते हुए पिता वीरेंद्र कुंडू लिखते हैं कि हम जांच या अभियोजन में हस्तक्षेप नहीं करेंगे, जैसा कि हम चाहते हैं कि अभियुक्त किसी भी तरह से जांच को प्रभावित न करें। पुलिस और अभियोजन अपना काम करेंगे। हम उसी समय जांच से जुड़ेगे जब पुलिस की ओर से हमें बुलाया जाएगा। हम इस मामले को कोर्ट में भी ले जाएंगे अगर हमें लगा कि आरोपियों पर लगी धाराओं को कम अथवा हटाया जा रहा है।”

I would like to make our stand clear on the case. We promise all the people and the groups supporting us that WE SHALL…

Posted by Virender Kundu on Sunday, August 6, 2017

 

हरियाणा बीजेपी के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके साथी ने वर्णिका कुंडू के साथ छेड़छाड़ की थी । विकास और उसके साथी को गिरफ्तार कर तीन घंटे के अंदर ज़मानत भी मिल गई है जिसका हर जगह विरोध हो रहा है।

कुंडू ने अपनी फेसबुक पोस्ट में कहा, “हमारा उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि दोषियों को सजा मिले। वे सभी व्यस्क शख्स हैं और लॉ के स्टूडेंट हैं। उन्हें अपने द्वारा की गई हरकत का परिणाम अच्छे से पता था और इसलिए उन्हें उचित रूप से दंडित किया जाना चाहिए। हम चाहते हैं कि उन्हें उस अपराध के लिए सजा मिले जो उन्होंने किया है।”

उन्होंने आगे लिखा- मेरी नजर में मुद्दा यह नहीं है कि वर्णिका या दो विशिष्ट लोगों को सजा देने का मामला है। मैं यह सोच रहा हूं कि क्या हमारे देश में एक महिला को आजाद और समान नागरिक की तरह जीने की अनुमति देता है? अगर उसके साथ कुछ गलत होता है तो क्या वह इसके खिलाफ आवाज उठा सकेगी? यदि नहीं, तो हम एक बेईमान, बर्बर समाज से बेहतर नहीं हैं।

 

I am proud of you, Varnika Kundu and Satvika Kundu and Sucheta Kundu. You have chosen to take on the worst form of …

Posted by Virender Kundu on Sunday, August 6, 2017

पीड़ित वर्णिका कुंडू ने फेसबुक पर अपनी आपबीती लिखी थी । वर्णिका ने लिखा- “मुझे लगता है कि मैं लकी हूं कि किसी आम आदमी की बेटी नहीं हूं। क्योंकि वो लोग किसी वीआईपी का मुकाबला कैसे कर पाते। मैं लकी हूं कि मेरा रेप या मर्डर नहीं हुआ।”

 

TOPPOPULARRECENT