Saturday , September 23 2017
Home / Khaas Khabar / भारत को जुमलेबाज़ों से खतरा है: सोनिया गाँधी

भारत को जुमलेबाज़ों से खतरा है: सोनिया गाँधी

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने देश में हो रहे हिंसक मामलों के लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा है कि भारत की समावेशी संकल्पना पर हमले हो रहे हैं और घरेलू कुप्रशासन की वजह से देश के सामने गंभीर समस्या पैदा हो गई है।

आजादी के 70 साल पूरे होने पर ‘नेशनल हेरल्ड’ अखबार का स्मारक संस्करण जारी करने के लिए आयोजित एक समारोह में उन्होंने कहा, “पत्रकारों और अखबार मालिकों पर आदेश मानने और कुद की सराहना करने के लिए दबाव डाला जा रहा है। इसलिए सच बोलना वर्तमान युग में अनिवार्य हो गया है।”

उन्होंने कहा, “नेशनल हेरल्ड उस समय की याद दिलाता है जब राष्ट्रवाद विदेशी शासन के खिलाफ लड़ा था। लेकिन आज घरेलू कुप्रशासन देश के लिए बड़ा खतरा बन गया है। ऐसे समय में जब समावेशी संकल्पना पर हमले हो रहे हों और प्रेस पर सवाल पूछने की बजाए आदेश मानने और सराहना करने के लिए दबाव बनाया जा रहा हो, सत्ता के सामने सच बोलना हमारे युग की जरूरत है।”

इसके बाद सोनिया ने कहा, “जब त्याग और संघर्ष की पीड़ा सहकर इतिहास बनया जा रहा था, उस समय अलग खड़े रहे लोग, जिनकी हमारे देश के संविधान में बहुत कम निष्ठा है, वो लोग आज ऐसा भारत बनाना चाहते हैं जो 15 अगस्त को आजाद हुए भारत से बिलकुल भिन्न हो।”

उन्होंने यह भी कहा, “हमें भूलना नहीं चाहिए कि इन लोगों ने भारत के निर्माण के लिए कोई बलिदान नहीं दिया। भले ही उनकी भाषा आधुनिक है। लेकिन वो अपने संकीर्ण उद्देश्यों के लिए भारत को पीछे ले जाना चाहते हैं। उनकी आधुनिक जुमलेबाजी में पुरातनपंथी विचार छुपे हैं जो आधुनिक विचार और दृष्टिकोण के बिलकुल विपरीत हैं। इस पाखंड को बेनकाब करना और सच्चाई को सामने लाना हमारा फर्ज है।”

फिर उन्होंने कहा, “आज कट्टरपंथी ताकतों ने भारत के आजमाए गए और सफल मूल्यों पर सवालिया निशान लगा दिया है। बढ़ती हुई असहिष्णुता के बीच द्वेषपूर्ण ताकतें लोगों को बता रही हैं कि क्या नहीं खाना चाहिए, किससे प्यार नहीं करना चाहिए और क्या विचार नहीं रखने चाहिए।”

TOPPOPULARRECENT