Saturday , April 29 2017
Home / Khaas Khabar / इमाम बुखारी ने मुसलमानों से की बसपा को समर्थन देने की अपील

इमाम बुखारी ने मुसलमानों से की बसपा को समर्थन देने की अपील

नई दिल्ली। दिल्ली की जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने यूपी चुनाव में मुसलमानों से बसपा का समर्थन करने की अपील की है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

न्यूज़ नेटवर्क समूह न्यूज़ 18 के अनुसार, उन्होंने अल्पसंख्यकों खासकर मुसलमानों के साथ होने वाली कथित न इंसाफी, अत्याचार और वादा खिलाफी पर गंभीर प्रतिक्रिया व्यक्त किया। उन्होंने आज कहा कि मुसलमानों को सब्जबाग दिखाकर उनके वोटों के माध्यम से सत्ता में आने वाली राजनीतिक पार्टियों को सबक सिखाने का महत्वपूर्ण आवश्यकता है।

इसके साथ ही उन्होंने दावा किया कि खुद को सुरक्षित रखने की कोशिश में देश के मुसलमानों ने तथाकथित धर्मनिरपेक्ष दलों का समर्थन करके उन्हें सत्ता तक पहुंचाया, लेकिन उन पार्टियों ने सत्ता में आने के बाद हमेशा उनके साथ धोखा किया, इसलिए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुसलमानों को बहुजन समाज पार्टी का चयन करना चाहिए।

इस तरह मुस्लिम और दलित वोटों के माध्यम से राज्य में एक मजबूत सरकार की संभावना पैदा होगी। उन्होंने आरोप लगाया कि खुद को धर्मनिरपेक्ष होने का दावा करने वाली कुछ राजनीतिक पार्टियां मुसलमानों को न्याय और अधिकार दिलाने का वादा करके सत्ता में आ जाने के बाद ऐसी पार्टियां सत्ता के नशे में अपने वादों से मुकर जाती हैं जिसके कारण मुसलमान हमेशा खुद को ठगा महसूस करता है।

उन्होंने कहा कि मुसलमानों को चाहिए कि वह उत्तर प्रदेश में राजनीतिक विकल्प पर गौर करें, न इंसाफी और वादा खिलाफी करने वाली पार्टियों को बाहर का रास्ता दिखाएँ, ताकि भविष्य में यह राजनीतिक पार्टियां ऐसा करने से बचें।

मुसलमानों का हनन करने वाली राजनीतिक पार्टियों को मुसलमानों की शक्ति का एहसास हो। वरना हर राजनितिक पार्टी मुसलमानों को फुटबॉल की तरह इस्तेमाल करके अपने हितों को पूरा करती रहेगी।

शाही इमाम ने कहा कि 2017 के वर्तमान उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव हमारे देश के राजनीतिक इतिहास में कई ऐतेबार से अहम हैं, क्योंकि यह सिर्फ हमारे प्यारे वतन के राजनीतिक भविष्य का फैसला नहीं करेंगे बल्कि हमारे देश की मिली जुली संस्कृति और सांप्रदायिक एकता के लिए भी परिणाम होगा, तो हर देशभक्त भारतीय के लिए अनिवार्य है कि वे अपने वोट की जिम्मेदारी का पूरा बुद्धिमत्ता के साथ उपयोग करे।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT