Wednesday , July 26 2017
Home / Sports / मैच फिक्सिंग के चलते भारत ने जीता था साल 2011 का वर्ड कप: अर्जुन रणतुंगा

मैच फिक्सिंग के चलते भारत ने जीता था साल 2011 का वर्ड कप: अर्जुन रणतुंगा

श्रीलंका के पूर्व कप्तान अर्जुन रणतुंगा ने दावा किया है कि साल 2011 में हुआ क्रिकेट वर्ड कप फिक्स था। उन्होंने इसके लिए फेसबुक पर एक वीडियो पोस्ट किया है और इसकी जांच कराने की मांग की है। पोस्ट किए गए वीडियो में उन्होंने कहा है कि वह मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में खेले गए फाइनल में श्रीलंका के छह विकेट से हारने पर हैरान थे।

वीडियो में उन्होंने कहा है, ‘‘मैं तब कमेंट्री के लिए भारत में था। जब हम हारे तो मैं काफी निराश था और मुझे आशंका थी। श्रीलंका के साथ विश्व कप 2011 के फाइनल में जो कुछ हुआ हमें उसकी जरूर जांच करनी चाहिए।’’

श्रीलंका के पूर्व कप्तान ने बीना किसी का नाम लिए कहा कि खिलाड़ी अपनी सफेद पोशाक के चलते गंदगी नहीं छिपा सकते। श्रीलंका ने फाइनल में पहले बल्लेबाजी करते हुए 50 ओवरों में छह विकेट पर 274 रन बनाए। जब भारतीय सुपरस्टार सचिन तेंदुलकर 18 रन बनाकर आउट हुए, तो तब वह काफी मजबूत स्थिति में दिख रहा था। भारत ने इसके बाद श्रीलंका के लचर क्षेत्ररक्षण का फायदा उठाकर मैच का पासा पलट दिया।

बता दें कि 2011 वर्ड कप मैच भारत और श्रीलंका के बीच खेला गया था जिसमें भारत ने श्रीलंका को 48.2 ओवरों में 4 विकेट खोकर मैच हराया था। श्रीलंका की स्थानीय मीडिया ने इस तरह से मैच गंवाने पर तब श्रीलंकाई खिलाड़ियों पर शक किया था। लेकिन रणतुंगा ने इसको लेकर इससे पहले किसी भी तरह की कोई बात नहीं की थी।

न्यूज एजेंसी एएपपी ने रणतुंगा के प्रवक्ता तामिरा मंजू के हवाले से लिखा है कि रणतुंगा देश के क्रिकेट की दुर्दशा को लेकर राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरीसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे को भी पत्र लिख रहे हैं। गौरतलब है कि श्रीलंका हाल ही में जिम्बाब्वे के हाथों पांच एकदिवसीय मैचों की श्रृंखला में हार गई थी जिसके बाद देश में आरोप प्रत्यारोपों का दौर जारी है।

TOPPOPULARRECENT