Thursday , July 27 2017
Home / Uttrakhand / उत्तराखंड- पाकिस्तान समर्थन में नारे लगाने के आरोप में 3 नाबालिग गिरफ्तार

उत्तराखंड- पाकिस्तान समर्थन में नारे लगाने के आरोप में 3 नाबालिग गिरफ्तार

आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में पाकिस्तान के हाथों भारत की करारी हार के बाद क्रिकेट प्रेमी दुखी हैं। लेकिन कश्मीर में पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाया गया । जम्मू कश्मीर के अलावा देवभूमि के मसूरी में भी पाकिस्तान की जीत पर कुछ नौजवानों ने ‘पाकिस्तान जिन्दाबाद’ के नारे लगाने की खबरें भी आईं हैं। नारे लगाने वाले तीनों नौजवान नाबालिग हैं। पुलिस ने इन नाबालिगों को गिरफ्तार कर जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया है।

18 जून को चैम्पियंस ट्रॉफी के फाइनल में पाकिस्तान से भारत को 180 रनों से हराया था। इसके बाद से ही पूरे भारत में अपने खिलाड़ियों को लेकर काफी गुस्से का माहौल है। पाकिस्तान के जीतने के बाद माल रोड और पिक्चर पैलेस-लंढौर मार्ग पर भी पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हुए तीन युवकों को पकड़ा गया है। इन तीनों आरोपियों को देशद्रोह और देश की अखंडता के मामले में पकड़ा गया है। ये तीनों आरोपी ही नाबालिग हैं।

ऐसा कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की जीत पर इन तीनों युवकों ने स्थानीय नौजवानों के साथ मिलकर माल रोड पर पिक्चर पैलेस से बेकरी हिल तक जश्न मनाया और पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए।

भाजपा मसूरी मंडल ने पुलिस को तहरीर देकर मुकदमा दर्ज करने और आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की। गुस्साए भाजपाई और अन्य लोगों ने इसे गंभीर मामला बताते हुए जल्द कार्रवाई की मांग को लेकर पुलिस का घेराव किया।

पुलिस के द्वारा सख्त कार्रवाई करने के आश्वासन के बाद लोग वहां से हटे। इसके बाद पुलिस ने नगर के अलग-अलग स्थानों पर लगे सीसीटीवी फुटेज की जांच करने के बाद कई लोगों से पूछताछ की।

सीसीटीवी की जांच के बाद पहचान किए गए आरोपियों से पूछताछ की गई। पुलिस ने इन तीनों को देशद्रोह और देश की अखंडता के विरुद्ध कार्य किए जाने के मामले में गिरफ्तार किया।

गिरफ्तार किए गए तीनों युवकों में से एक मसूरी और दो सहारनपुर का रहने वाले हैं। पुलिस ने इन तीनों को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया है। आरोपी युवक की मां ने कहा कि उनके बच्चों ने किसी के बहकावे में आकर पाकिस्तान के पक्ष में नारेबाजी कर दी। परंतु वह निर्दोष हैं। उनको फंसाया जा रहा है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि वह उनके बच्चों को माफ कर दें।

TOPPOPULARRECENT