Tuesday , October 24 2017
Home / Khaas Khabar / नोटबंदी के बाद 17 करोड़ रुपए जमा करने वाले RSS नेता के ख़िलाफ़ जाँच शुरू

नोटबंदी के बाद 17 करोड़ रुपए जमा करने वाले RSS नेता के ख़िलाफ़ जाँच शुरू

  • राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के एक बड़े नेता के बारे में आयकर विभाग जानकरी जुटा रही है जिनके बारे में पता चला है कि उन्होंने 500 और हजार के लगभग 17 करोड़ रूपये जमा किए। इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा है कि इस मामले में आरएसएस नेता कुलभूषण अहूजा और उनकी कंपनी अहूजासंस शॉलवाले प्राइवेट लिमिटेड के बारे में जांच कर रहा है।

कुलभूषण अहूजा दिल्ली प्रांत संघचालक हैं और अपनी कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर भी हैं। रिकॉर्ड के मुताबिक, इस कंपनी में तीन अन्य डायरेक्टर भी हैं जिनका नाम भुवन और करन और निधि। ये तीनों संघ संचालक के बेटे और बेटियां हैं।

अखबार ने लिखा है कि पिछले महीने कथित तौर पर इस कंपनी ने छह करोड़ रुपये प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत स्वैच्छिक घोषणा स्कीम में जमा की है। बता दें कि केंद्र सरकार ने पिछले साल दिसंबर महीने ऐसे लोगों के लिए इस योजना की घोषणा की थी जिनके पास अघोषित नकद रुपये थे।

गौरतलब है कि अहूजासंस पशमीना शॉल की सबसे बड़े विक्रेताओं में से एक है। अखबार ने सूत्रों के हवाले से लिखा है किआयकर विभाग के अधिकारियों ने इनकम टैक्स एक्ट की धारा 132 के तहत 22 फरवरी को आहूजा के आवास और दफ्तर पर छापा मारा था। इस दौरान अघोषित नकद, सोने के बिस्किट और आभूषण बरामद किए गए थे।

उल्लेखनीय है कि विभाग नोटबंदी के बाद देश भर में संदिग्ध रूप से जमा किए गए नोटों और बैंक खातों की जांच कर रहा है। बताया जा रहा है कि छापे में दौरान आयकर आहूजा की कंपनी में बैक डेट में बनी कुछ जाली बिल मिले थे।

TOPPOPULARRECENT