Tuesday , March 28 2017
Home / Delhi News / देश ने पिछले साल 15 आतंकी हमलों में 68 जवानों को खोए

देश ने पिछले साल 15 आतंकी हमलों में 68 जवानों को खोए

बीते साल भारतीय सेना पर 15 आतंकवादी हमले हुए जिसमें देश के 68 जवानों की मौत हुई है। साल 2016 में जम्मू-कश्मीर सीमा पर पाकिस्तान द्वारा किए गए संघर्ष विराम उल्लंघन के 449 मामले भी दर्ज किए गए।

शुक्रवार को लोकसभा में रक्षा राज्य मंत्री सुभाष भामरे ने लिखित जवाब में यह जानकारी देते हुए कहा कि 2014 में हुए आतंकवादी हमलों के 10 मामले दर्ज किए गए जबकि साल 2015 में 11 और 2016 में 15 मामले सामने आये हैं।

वहीँ साल 2015 और 2016 में सेना के शहीद हुए जवानों की संख्या में इजाफा हुआ है। आतंकवादी हमलों 67 और सीमा पर 68 जवान मारे गए। 2014 में 38 जवानों को आतंकवादी द्वारा मारे गए जबकि इस साल 13 जवान अपनी जान गँव चुके है।

सुभाष भामरे ने कहा कि 2016 में नियंत्रण रेखा में 228 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया जबकि सीमा सुरक्षा बल के नियंत्रण वाले जम्मू और कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के क्षेत्र में 221 बार युद्ध विराम का उल्लंघन हुआ।

भामरे ने कहा कि वर्ष 2016 में नियंत्रण रेखा के क्षेत्र, जो सेना के संचालन नियंत्रण में है, पर 228 बार संघर्ष विराम का उल्लंघन किया गया जबकि सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के नियंत्रण वाले जम्मू और कश्मीर में अंतरराष्ट्रीय सीमा के क्षेत्र में युद्ध विराम उल्लंघन के 221 उदाहरण दर्ज किए गए।

यह रोज़ के संघर्ष विराम के एक से अधिक उदाहरण के लिए होता है। इस साल 2017 में संघर्ष विराम के उल्लंघन के एलओओ में 30 जबकि अंतरराष्ट्रीय सीमा पर छह मामले बीएसएफ द्वारा 6 फरवरी तक दर्ज किए गए हैं।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT