Tuesday , August 22 2017
Home / Politics / JDU के तीन गुटों में बटने की उम्मीद, नीतीश के लिए बड़ा चैलेंज

JDU के तीन गुटों में बटने की उम्मीद, नीतीश के लिए बड़ा चैलेंज

नई दिल्ली। अब यह साफ हो रहा है कि जनता दल (यूनाइटेड) 3 गुटों में बंटने जा रहा है। असंतुष्ट नेता शरद यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकारी जनता दल को अलविदा कहने की तैयारी में हैं और केरल जद (यू) प्रमुख सांसद वरिंद्र कुमार अपनी पार्टी बनाने जा रहे हैं।

राज्यसभा के सदस्य वरिंद्र कुमार ने नीतीश को बता दिया है कि वह उनकी पार्टी के साथ नहीं रहेंगे और केरल में अपनी पार्टी बनाएंगे। राज्यसभा में पार्टी के 10 और लोकसभा में 2 सांसद हैं।

शरद यादव को राज्यसभा में एक सदस्य अली अनवर का समर्थन प्राप्त है। जद (यू) ने बड़ी कार्रवाई कर शरद यादव को राज्यसभा में पार्टी के नेता पद से हटा दिया और उनके स्थान पर आरसीपी सिंह को नियुक्त किया है।

नीतीश कुमार चाहते हैं कि जद (यू) केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल हो क्योंकि इससे राज्य को उसकी विकास परियोजनाओं को लागू करने में मदद मिलेगी।

वह नहीं चाहते कि शरद यादव केंद्रीय कैबिनेट का हिस्सा बनें इसलिए उन्हें बगावत करने की अनुमति दी गई। केंद्रीय कैबिनेट में जद (यू) के शामिल होने के तौर-तरीकों पर इस महीने के अंत में विचार किया जाएगा।

भाजपा नेता चाहते हैं कि शरद यादव जद (यू) में बने रहें और वित्त मंत्री अरुण जेतली उनसे मिलकर उनको पार्टी में रहने के लिए मनाएंगे मगर नीतीश ने प्रधानमंत्री मोदी, अमित शाह और अरुण जेतली को पटना से फोन किया कि शरद यादव को रोकने के लिए कोई प्रयास न किया जाए।

नीतीश ने कहा कि शरद यादव उनकी पार्टी के लिए एक बोझ हैं क्योंकि वह उनके खिलाफ बोले हैं इसलिए उनको अपनी राह चुननी चाहिए और भाजपा को पार्टी के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप नहीं करना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT