Monday , July 24 2017
Home / Khaas Khabar / AMU के पीएचडी छात्र रहे गुलज़ार वानी 16 साल बाद आतंक के आरोप से बाइज्ज़त बरी

AMU के पीएचडी छात्र रहे गुलज़ार वानी 16 साल बाद आतंक के आरोप से बाइज्ज़त बरी

बाराबंकी की सेशन कोर्ट ने आज गुलज़ार वानी को साबरमती एक्सप्रेस ब्लास्ट मामले में 16 साल बाद बाइज्ज़त बरी कर दिया।

कश्मीर के पाटन इलाक़े के गुलज़ार वानी को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने 2001 में उठाया था। उस दौरान उनकी उम्र 28 साल थी और वह अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से पीएचडी कर रहे थे।

गुलज़ार के अलावा अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के एक और स्टूडेंट मलिक मुबीन को भी आगरा और बाराबंकी में ट्रेन में धमाके के आरोप से बरी कर दिया।

गुलज़ार पर धमाकों के कुल 11 केस लगाए गए थे। वहीँ, उनके ख़िलाफ़ दिल्ली, यूपी और महाराष्ट्र में 14 एफआईआर दर्ज की गई थी। जिसमे से सभी आरोप बेबुनियाद निकले।

TOPPOPULARRECENT