Saturday , July 22 2017
Home / Khaas Khabar / ट्विटर पर बरसे लालू, कहा- भाजपा को नए ‘अलायंस पार्टनर’ मुबारक, BJP समर्थित मीडिया को भी फटकारा

ट्विटर पर बरसे लालू, कहा- भाजपा को नए ‘अलायंस पार्टनर’ मुबारक, BJP समर्थित मीडिया को भी फटकारा

नई दिल्ली: राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव ने आयकर विभाग के छापेमारी के बाद भाजपा और मीडिया पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि भाजपा में इतनी हिम्मत नहीं है वो उन्हें दबा दे। बता दें कि बेनामी संपत्ति मामले में मंगलवार को आयकर विभाग ने दिल्ली समेत उनके 22 ठिकानों पर छापा मारा था।

इसके बाद उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट किया। उन्होंने ने ट्वीट किया, “बीजेपी में हिम्मत नहीं कि लालू की आवाज को दबा सके। लालू की आवाज दबाएंगे तो देशभर में करोड़ों लालू खड़े हो जाएंगे। मैं गीदड़ भभकी से डरने वाला नहीं हूं।”

इस ट्वीट के पहले उन्होंने लिखा, “भाजपा को नए ‘अलायंस पार्टनर’ मुबारक हो। लालू प्रसाद झुकने और डरने वाला नहीं है। जब तक आखिरी सांस है, फासीवादी ताकतों के खिलाफ लड़ता रहूंगा।”

अब लालू यादव ने भाजपा के नए अलायंस पार्टनर संज्ञा किसको दी है इसको लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।

इसके बाद उन्होंने मीडिया को आड़े-हाथों लिया और कहा, “अरे पढ़े-लिखे अनपढों,ये तो बताओ कौन से 22 ठिकानों पर छापेमारी हुई। बीजेपी समर्थित मीडिया और उसके सहयोगी घटकों (सरकारी तोतों) से लालू नहीं डरता।”

इसके बाद उन्होंने एक और ट्वीट किया जिसमें लिखा, “ज्यादा लार मत टपकाओ। गठबंधन अटूट है। अभी तो समान विचारधारा के और दलों को साथ जोड़ना है। मैं बीजेपी के सरकारी तंत्र और सरकारी सहयोगियों से नहीं डरता।

लालू यहीं नहीं रूके, उन्होंने संघ और भाजपा पर जमकर भी जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा,  “आरएसएस-बीजेपी को लालू के नाम से कंपकंपी छूटती है। इनको पता है कि लालू इनके झूठ,लूट और जुमलों के कारोबार को ध्वस्त कर रहा है तो दबाव बनाओ।”

अपने आखिरी ट्वीट में उन्होंने कहा, “पूंजीपतियों के सरगनाओं सुनो! गरीबों का समर्थन व शुभ आशीर्वाद मेरे साथ है। लालू न हारा है, न थका है। अपराजेय योद्धा की तरह सदा लड़ा और जीता हूं।”

गौरतलब है कि पिछले एक महीने से बिहार भाजपा अध्यक्ष सुशील कुमार मोदी लगाकर लालू प्रसाद यादव के परिवार वालों पर बेनामी संपत्ति अर्जित करे का आरोप लगा रहे हैं। इसको लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी सोमवार को कहा था कि अगर भाजपा नेताओं के पास बेनामी संपत्ति को लेकर कोई सबूत है, तो कानूनी कार्रवाई क्यों नहीं करती।

TOPPOPULARRECENT