Monday , August 21 2017
Home / Politics / LOC पर सर्जिकल स्ट्राइक और मुज़फ्फरनगर में मोदी की जय जय

LOC पर सर्जिकल स्ट्राइक और मुज़फ्फरनगर में मोदी की जय जय

मुज्जफरनगर में सर्जिकल स्ट्राइक की होर्डिंग सोशल मीडिया में खुब सुर्खियां बटोर रही है। इस होर्डिंग में सर्जिकल स्ट्राइक पर प्रधानमंत्री का महिमामंडन करते हुए नायक की छवि में पेश किया है। होर्डिग में सौदागर फिल्म का मशहुर डायलॉग को लिखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की एक फोटो है। होर्डिंग में लिखा है कि हम तुम्हे मारेंगे , जरुर मारेंगे लेकिन बंदुक भी हमारी होगी, गोली भी हमारी होगी ,वक्त भी हमारा होगा बस जगह तुम्हारी होगी।

 

पत्रकार वसीम अकरम त्यागी फेसबुक पोस्ट में लिखते हैं
ये हार्डिंग मुजफ्फरनगर में लगाया गया है इसे लगाने वाले केन्द्रीय कृषि मंत्री संजीव बालियान (मुजफ्फरनगर दंगो के आरोपी) दूसरे मुजफ्फरनगर विधायक कपिल देव अग्रवाल (स्टिंग ऑपरेशन में शहर में दंगा कराने की साजिश रचते हुऐ दिखाये गये) हैं। कितनी मजबूत ‘देशभक्ती है इनकी ? संजीव के गांव में आठ अल्पसंख्यक समुदाय के आठ लोगों जिसमें 14 वर्षीय बच्चा भी शामिल था उनको बेरहमी से काट डाला गया था। अब ये देशभक्ती का झंडा उठा लिये हैं। यह सबसे आसान तरीका है देशभक्ती का जयकारा लगाओ और खुद को पाक साफ बना लो।

भाजपा कह रही है कि सर्जिकल स्ट्राईक पर राजनीती न हो मगर यहां क्या हो रहा है ? यहां तो मोदी को ऐसे महिमामंडित किया जा रहा है मानो मोदी खुद सर्जिकल स्ट्राईक करने वाली टीम का कमांडर हो। गर मोदी सर्जिकल स्ट्राईक के नायक हैं तो फिर उड़ी हमले के खलनायक भी उन्हीं को माना जाना चाहिये। मगर यह अजीब प्रचलन है जब सेना आतंकी मारती है तब भाजपाई कहते हैं कि मोदी की वजह से ऐसा हुआ है मगर जब सेना के जवान आतंकियों के हाथों शहीद हो जाते हैं उसकी जिम्मेदारी कोई भाजपाई नहीं लेता। सेना का एक विमान 29 सैनिकों के साथ पिछले ढाई महीने से गायब है क्या कोई भाजपाई आगे आकर इस तरह का हार्डिंग लगायेगा कि ‘हमारी नाकामी है’ ‘मोदी की नाकामी है’ ?

सर्जिकल स्ट्राईक के कुछ ही घंटे के बाद एक भारतीय फौजी चंदू बाबूलाल गलती से सरहद पार कर गया था वह अब पाकिस्तान की गिरफ्त में है। क्या कोई भाजपाई कहेगा कि इसका जिम्मेदार मोदी है ? क्या कोई भाजपाई मंत्री ऐसा हार्डिंग लगायेगा जिस पर लिखा हो। ‘हम शर्मिंदा हैं बहुत शर्मिंदा हैं, क्योंकि हम पाकिस्तान के कब्जे से कश्मीर तो क्या महज एक सैनिक को नही ला सकते ? हम चंदू के परिवार से आंखें मिलाने की ताकत नहीं रखते क्योंकि उसकी नानी उसी वक्त सदमे से मर गईं जब उन्हें पता चला कि उनका बच्चा दुश्मन की गिरफ्त में हैं। क्या कोई भाजपाई जिम्मेदारी लेगा इसकी ?

सेना दुश्मन को मार भगाये तो मोदी बलवान और अगर सेना के जवान दुश्मन के हाथों शहीद हो जायें उसकी जिम्मेदारी कोई नहीं लेता। यह दौगलो की जमात बिल्कुल फुसफुसे देशभक्त पालती है। इनकी देशभक्ती देश के अंदर तक रहती है वह भी समुदाय विशेष और जाती विशेष को निगलने के लिये। कभी सरहदो ने इनकी देशभक्ती नही देखी। ये सरहदों पर गये जरूर हैं मगर देशभक्ती के लिये नहीं बल्कि आतंकवादियों को बाइज्जत उनकी गुफा में छोड़ने के लिये हैं।

पत्रकार मोहम्मद अनस इस होर्डिंग में तंज कसते हुए लिखते हैं
सरहदों पर तनाव है,
पता करो चुनाव है।
सर्जिकल स्ट्राइक के नाम पर उत्तर प्रदेश में भाजपा नेताओं ने लगाए खुद को बधाई देने वाले पोस्टर। सारा खेल क्यों रचा गया, वह खुद ब खुद बयान हो रहा है।
भारतीय सेना के शौर्य/ पराक्रम को बेचने वाली भाजपा शर्म करे। देश की सेना का इस तरह से सियासी इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।

TOPPOPULARRECENT