Saturday , October 21 2017
Home / Delhi News / मर चुके छोटे भाई के ठीक होने की उम्मीद में 9 दिन तक बड़े भाई ने शव घर में संभाल कर रखा

मर चुके छोटे भाई के ठीक होने की उम्मीद में 9 दिन तक बड़े भाई ने शव घर में संभाल कर रखा

मौजूदा समय में एक तरफ जहाँ आज भाई-भाई का दुश्मन बना जा रहा है. वहीँ इस बीच दिल्ली के करावल नगर में एक ऐसा मामला देखने को मिला जिसने रिश्तों की अहमियत और लगाव का अंदाज़ा लगाया जा सकता है.

दरअसल यहाँ छोटे भाई की मौत होने के बाद बड़े भाई लगता था कि शायद वह फिर से ठीक हो जाएगा। नौ दिन तक इस उम्मीद में उसके शव के साथ रहा कि शायद भाई ठीक हो जाए। उन्हें लग रहा था कि उनका छोटा भाई बीमार है। इसी उम्मीद में वह अपने छोटे भाई के शव के साथ 9 दिन तक रहते रहे।

इस घटना का पता तब चला जब छोटे भाई के कुछ जानकार उन्हें ढूंढते हुए उनके घर पहुंचे। मामला सामने आने के बाद बाद शव को कब्जे में लिया गया।

मृतक का नाम राजेन्द्र भटनगार है और उनकी उम्र 68 साल थी। उनके बड़े भाई का नाम प्रह्लाद भटनागर है, जिनकी उम्र 70 साल है। बताया जा रहा है कि वह मानसिक रूप से बीमार हैं।

इन दोनों भाईओं की शादी नहीं हुई है। एक निजी कंपनी से रिटायर होने के बाद राजेंद्र घर के पास स्थित लिटिल स्टार पब्लिक स्कूल में संस्कृत पढ़ाते थे। स्कूल से मिले वेतन से दोनों भाई अपना गुजारा करते थे।

 

TOPPOPULARRECENT