Friday , October 20 2017
Home / Uttar Pradesh / मीट कारोबारियों ने की गौरक्षकों को बैन करने की मांग, कहा- वैध-अवैध तो बहाना है, मुसलमान निशाना है

मीट कारोबारियों ने की गौरक्षकों को बैन करने की मांग, कहा- वैध-अवैध तो बहाना है, मुसलमान निशाना है

वाराणसी: सीएम योगी के गोश्तबंदी के फैसले के खिलाफ़ आज बनारस के मिट कारोबारियों का गुस्सा फूट पड़ा। नाराज़ कारोबारियों ने कलेक्‍ट्रेट का घेराव किया और गौरक्षा दलों के खिलाफ नारेबाजी की।

बनारस के शास्‍त्री घाट पर जुटे इन लोगों ने हाथों में तख्तियां थामी हुई थी। इस दौरान ‘वैध-अवैध तो बहाना है, अल्‍पसंख्‍यक समाज निशाना है’, ‘गोरक्षा दलों पर प्रतिबंध लगाओ’ के नारे भी लगाए गए।

कलेक्‍ट्रेट के बाहर पहुंच इन लोगों ने अंदर घुसने की कोशिश तो वहां मौजूद फ़ोर्स ने उन्हें बाहर रोक लिया। जिसके बाद उन्होंने यूपी सरकार के विरोध में जमकर नारे लगाए और वहीँ कड़ी धूप में वहां बैठ धरना दिया।

कड़ी धूप के बावजूद प्रदर्शनकारी वहीं बैठ धरना देते रहे। इन लोगों का कहना है कि योगी सरकार के इस आदेश से बनारस और पूर्वांचल में मीट कारोबारियों के परिवारों पर भुखमरी की नौबत आ गई है।

योगी सरकार दोनों तरफ से अल्पसंख्यकों को निशाना बना रही है। बूचड़खाने बंद करवा दिए गए हैं और अल्पसंख्यकों पर गौरक्षा दलों और हिन्दू संगठनों की हिंसा भी थम नहीं रही।

 

TOPPOPULARRECENT