Thursday , August 17 2017
Home / Delhi / Mumbai / MM खान हत्याकांड : L-G और BJP नेताओं को बचाने के लिए मोदी सरकार ने लगाया दिल्ली में अघोषित आपातकाल: आप नेता

MM खान हत्याकांड : L-G और BJP नेताओं को बचाने के लिए मोदी सरकार ने लगाया दिल्ली में अघोषित आपातकाल: आप नेता

नई दिल्ली: एनडीएमसी के ईमानदार अधिकारी शहीद एमएम खान हत्याकांड में तीन लोगों की भूमिका संदिग्ध है जिनमें भाजपा नेता महेश गिरी, भाजपा नेता करन सिंह तंवर और दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय श्री नजीब जंग हैं.

भारतीय जनता पार्टी की केंद्र सरकार ने दिल्ली में अघोषित आपातकाल लगा दिया है। जिससे वे अपने नेताओं को बचा कर आम आदमी पार्टी के विधायकों के साथ आतंकवादियों जैसा व्यवहार कर रही है. एन डी एम सी अधिकारी हत्याकांड में अपने नेता और LG की भूमिका के सबूत होने के बाद भी पुलिस उनसे पूछताछ तक नहीं कर रही है और ‘आप’ विधायकों को झूठी शिकायतों पर भी उठा ले जाता है। आम आदमी पार्टी मांग करती है कि दिल्ली पुलिस तुरंत इन तीनो लोगों को गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ करे और हत्या में उनके भूमिका की जांच करे. आम आदमी पार्टी द्वारा आयोजित प्रेस से बातचीत करते हुए ‘आप’ पार्टी के प्रवक्ता दिल्ली शाखा के संयोजक दिलीप पांडे ने कहा कि एनडीएमसी के ईमानदार अधिकारी एमएम खान की हत्या मामले में जब भाजपा नेता महेश गिरी,

भाजपा नेता करन सिंह तंवर और दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय श्री नजीब जंग की भूमिका स्पष्ट रूप से संदिग्ध नजर आ रही है लेकिन पुलिस उनसे पूछताछ तक नहीं कर रही है जबकि दिल्ली में एक अघोषित आपातकाल लगाकर दिल्ली के विधायक दिनेश मोहनिया को कुछ फर्जी शिकायतों पर एक आतंकवादी की तरह उठाकर ले जाती है। इससे यह साबित हो जाता है कि मोदी जी की पुलिस LG और भाजपा नेताओं को बचाने के लिए ही यह सब कर रही है। लेकिन हम यह बताना चाहते हैं कि हम LG सहित दोनों भाजपा नेताओं के खिलाफ कार्रवाई होने तक चुप बैठने वाले नहीं हैं.

आमआदमी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आशुतोष ने कहा कि दिल्ली में मोदी जी ने अघोषित आपातकाल लगा दिया है जिससे आम आदमी पार्टी के मासूम विधायक को उठाने का काम अपनी पुलिस से करने लगे हैं। हम लगातार पिछले कुछ समय से एमएम खान हत्याकांड में उनके नेताओं और दिल्ली के एलजी की भूमिका के पुख्ता सबूत मीडिया में रख रहे हैं लेकिन उन पर मोदी जी की पुलिस कोई ध्यान नहीं दे रही है और दिल्ली के चुने हुए विधायकों को फर्जी केस में फंसा कर उन्हें घर से करने के लिए आ जाती है।

TOPPOPULARRECENT