Friday , September 22 2017
Home / World / म्यांमार: मुग़ल बादशाह बहादुर शाह ज़फर की मज़ार पर PM मोदी ने चढ़ाया फूल

म्यांमार: मुग़ल बादशाह बहादुर शाह ज़फर की मज़ार पर PM मोदी ने चढ़ाया फूल

यंगून। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की म्यांमार यात्रा का आज आखिरी दिन था। बादशाह बहादुर शाह जफर की मजार पर जाने के बाद वे वापिस दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।

दिल्ली रवानगी से पहले मोदी ने काली बाड़ी मंदिर में पूजा की। फिर आंग सान म्यूजियम गए। म्यूजियम में मोदी के साथ स्टेट काउंसलर आंग सान सू की भी थीं। बुधवार को मोदी बागान गए थे, जहां उन्होंने आनंद मंदिर का दौरा किया था। बाद में मोदी ने यंगून में भारतीय कम्युनिटी के लोगों को संबोधित किया था।

पीएम सुबह बादशाह बहादुर शाह जफर की मजार पर गए। उन्होंने मजार पर फूल चढ़ाए और इत्र भी छिड़का। इससे पहले वे कालीबाड़ी मंदिर पहुंचे। वहां पर पूजा-अर्चना की। मोदी ने यांगून के श्वेदागोन पगोडा का दौरा किया।

बहादुर शाह जफर की मौत 1862 में बर्मा (अब म्यांमार) की तत्कालीन राजधानी रंगून (अब यांगून) की एक जेल में हुई थी लेकिन उनकी दरगाह 132 साल बाद 1994 में बनी। इस दरगाह में महिलाओं और पुरुषों के लिए अलग-अलग प्रार्थना करने की जगह बनी है। ब्रिटिश शासन में दिल्ली की गद्दी पर बैठे बहादुर शाह जफर नाममात्र के बादशाह थे।

बहादुर शाह जफर को हालांकि एक बादशाह के तौर पर कम और कवि एवं गजल लेखक के तौर पर ज्यादा जाना जाता है। उनकी कितनी ही नज्मों पर बाद में फिल्मी गाने बने। उनकी दरगाह दुनिया की मशहूर और एतिहासिक दरगाहों में गिनी जाती है।

1837 के सितंबर में पिता अकबर शाह द्वितीय की मौत के बाद वह गद्दीनशीं हुए। अकबर शाह जफर को मुगलों का शासन नहीं सौंपना चाहते थे।

TOPPOPULARRECENT