Friday , August 18 2017
Home / Khaas Khabar / मध्य प्रदेश की अंधविश्वासी शिवराज सरकार अस्पताल में ज्योतिषी से कराएगी मरीज़ों का इलाज!

मध्य प्रदेश की अंधविश्वासी शिवराज सरकार अस्पताल में ज्योतिषी से कराएगी मरीज़ों का इलाज!

क्या आपने कभी सोचा होगा कि अस्पतालों में डॉक्टरों क साथ ज्योतिषी, वास्तुशास्त्री और हस्तरेखा विशेषज्ञ आपकी बीमारी का इलाज करेंगे। अगर आपको हैरानी हो रही है तो ज़रा ठहरिए जल्द ही ऐसा नज़ारा दिखेगा मध्यप्रदेश के सरकारी अस्पतालों में।

चिकित्सकीय परामर्श के बाद ये भविष्यवक्ता मरीजों को अपनी सलाह भी देंगे। इसके लिए प्रदेश सरकार और महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान के बीच करार हो चुका है और उम्मीद है कि सितम्बर माह से यह नई व्यवस्था लागू हो जाए।

मध्य प्रदेश पतंजलि संस्कृत संस्थान के डायरेक्टर पी आर तिवारी ने एक अंग्रेजी अखबार को दिए इंटरव्यू में बताया कि ओपीडी में जिस तरह जूनियर डॉक्टर सीनियर डॉक्टर के देखरेख में काम करता है, ठीक उसी तरह एस्ट्रो ओपीडी में भी ज्योतिषी एक्सपर्ट्स की देखरेख में काम करेंगे।

चिकित्सा और भविष्यवक्ताओं का क्या मेल होगा और वे मरीजों को किस तरह की सलाह देंगे यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

लेकिन प्रदेश सरकार के इस कदम को लेकर देश के सर्जन बड़े खफा हैं। सर्जनों की आला संस्था एसोसिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया ने मध्यप्रदेश इकाई को निर्देश दिए हैं कि आखिर पता किया जाए कि यह सब हो क्या रहा है।

एसोसिएशन ऑफ सर्जन्स ऑफ इंडिया के गवर्निंग काउंसिल मेम्बर व वरिष्ठ सर्जन डॉ. केसी देवानी ने बताया कि एसोसिएशन के मुख्यालय से एक पत्र आया है, जिसमें बताया गया है कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार सितम्बर माह से ओपीडी में भविष्यवक्ताओं को भी बैठाएगी, जो मरीजों को सलाह देंगे।

इसके लिए महर्षि पतंजलि संस्कृत संस्थान से शिक्षित भविष्यवक्ताओं को नियुक्त किया जाएगा। ये विशेषज्ञ सप्ताह में तीन से चार घंटे ओपीडी में सलाह देंगे और सप्ताहांत में विशेष सेशन होगा।

डॉ. देवानी का कहना है कि एसोसिएशन के पदाधिकारी हैरान हैं कि आखिर मध्यप्रदेश सरकार यह कौन सी योजना ला रही है। दोनों ही विद्याएं एकदम अलग हैं, मरीजों को भ्रमित करने का कार्य क्यों किया जा रहा है।

कहा जा रहा है कि ओपीडी में ज्योतिषी, वास्तु शास्त्री, हस्तरेखा विशेषज्ञ और वैदिक कर्मकांड विशेषज्ञ मरीजों को उनकी राशि और जीवन रेखा के सम्बंध में ज्ञान देंगे। एस्ट्रो ओपीडी में जूनियर डॉक्टरों को भी वरिष्ठ भविष्यवक्ताओं के साथ काम करने का मौका दिया जाएगा, ताकि वे भी ऐस्ट्रो ओपीडी का महत्व सीख सकें और बाद में केस हैंडल कर सकें।

वरिष्ट सर्जन डॉ केसी देवानी ने कहाकि अच्छा है, हम और पीछे जा रहे हैं। बेहतर होगा कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सभी सरकारी अस्पतालों में दवा दुकानों की जगह ज्योतिषी गुणों वाले रत्नों, उपरत्नों तथा गंडा-ताबीज की दुकानें खुलवा दें और एमबीबीएस चिकित्सकों को घर में बैठने के निर्देश दिए जाएं ताकि सारा इलाज ज्योतिषी और वास्तु शास्त्री ही कर दें।

TOPPOPULARRECENT