Tuesday , August 22 2017
Home / Khaas Khabar / मॉब लिंचिंग का शिकार हुए मुहम्मद ओवेस, 3 दिन बाद भी योगी की पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

मॉब लिंचिंग का शिकार हुए मुहम्मद ओवेस, 3 दिन बाद भी योगी की पुलिस ने नहीं की कार्रवाई

लखनऊ : मड़ियांव निवासी हाफिज़ मोहम्मद आवेस के साथ मारपीट करने वाले आरोपियों की अब तक गिरफ्तारी नही हुई है । 21 जुलाई को रात 9 बजे मामूली कहासुनी के बाद एक भीड़ इकट्ठा हुई और सर ए बाज़ार हाफिज़ आवेस पर जानलेवा हमला कर दिया ।

हाफिज़ आवेस ने दुकान के सामने से गाड़ी हटाने के लिए कहा तो कुछ गुंडों उससे गाली गलौच करने लगे और देखते ही देखते एक भीड़ ने हाफिज़ आवेस को बुरी तरह से मारा पीटा, जिस से उनका सर फट गया है, हाथ टूट चुका है.

छोटी सी कहा सुनी से शुरु हुए झगड़े के बाद 10-12 लोग आकर उनके घर पर ईंट पत्थर चलाते हुए साम्प्रदायिक गालियां देने लगे । आवेस के घर वालों ने 100 नंबर पर फ़ोन किया पुलिस के आने से पहले ही आरोपी भाग गए ।

लेकिन रात डेढ़ बजे के करीब फिर से 60-70 की तादाद में लोग घर पर पथराव करते हुए साम्प्रदायिक गालियां देने लगे। दोबारा पुलिस को कॉल करने पर पुलिस ने थाने आकर कंप्लेन करने को कहा ।

पुलिस ने उल्टे आरोपियों की शिकायत पर जावेद के खिलाफ़ ही मामला दर्ज कर लिया है । रात की घटना के बाद जब मोहम्मद आवेस सुबह अपनी दुकान खोली तो एक बार फिर 40-50 लोगों की भीड़ ने उस पर हमला कर दिया और दुकान में लूटपाट की ।

आवेस के पिता मो0 अकरम भी हमलावर भीड़ के हमले का शिकार हुए। जिसकी एफआईआर भी दर्ज करवाई गई जिस पर पुलिस ने कोई करवाई नहीं कि और उल्टे रात में मुजरिमों को पहचानने के नाम पर जावेद को ले जाकर बंद कर दिया।

रिहाई मंच महासचिव राजीव यादव ने कहा ये मामला बेहद गंभीर है । पुलिस की लापरवाही का अंदाजा एफआईआर में दर्ज थाने और घटना स्थल की दूरी से लगाया जा सकता है जो सिर्फ़ 1.5 किमी है।

TOPPOPULARRECENT