Thursday , August 17 2017
Home / International / सऊदी अरब ने ईरान हमले में ख़ुद की भूमिका से किया इंकार

सऊदी अरब ने ईरान हमले में ख़ुद की भूमिका से किया इंकार

ईरान की संसद और खुमैनी मकबरे पर हुए आतंकी हमले को लेकर सऊदी अरब के विदेश मंत्री ने अब्देल जुबेर ने इनके पीछे होने से इनकार किया है। बर्लिन में बोलते हुए जुबेर ने कहा कि ईरान अलकायदा समेत अन्य आतंकी संगठनों के सरगना को संरक्षण दे रहा है।

सऊदी विदेश मंत्री जुबेर की इस धमकी के कुछ घंटे बाद ही ईरान में हुए आतंकी हमले हुए हैं। इस्लामी स्टेट ने इन हमलों की जिम्मेदारी ली और एक वीडियो भी जारी किया जिसने बंदूकधारियों को संसद में दिखाया। विदेश मंत्री ने कहा कि तेहरान के पास हमले में सऊदी अरब को फंसाने का कोई सबूत नहीं है।

हाल ही में दोनों देशों ने एक-दूसरे से राजनयिक संबंध तक खत्म कर लिए थे। इससे पहले सऊदी समेत सात देशों ने कतर से राजनयिक रिश्ते खत्म कर लिए थे। जुबेर ने कहा कि सऊदी अरब और अन्य खाड़ी देशों ईरान के साथ सामान्य संबंधों को फिर से स्थापित करने के लिए तैयार होंगे यदि वह अपना व्यवहार बदले और लेबनान, यमन, सीरिया और अन्य जगहों पर आतंकवादियों और लड़ाकू सैनिकों का समर्थन बंद करे।

 

सोमवार को, सऊदी अरब, मिस्र, संयुक्त अरब अमीरात (संयुक्त अरब अमीरात) और बहरीन ने कतर के साथ संबंधों को तोड़ दिया और वाणिज्यिक उड़ानों के लिए अपने हवाई क्षेत्र को बंद कर दिया। इस क्षेत्र में उग्रवादी समूहों को धन देने और ईरान को समर्थन देने के लिए दोहा पर आरोप लगाया था।

इस पर ईरान ने कतर का समर्थन किया था इससे सऊदी अरब समेत कई देश ईरान से भी खफा हो गए हैं। वर्तमान में खाड़ी क्षेत्र दो धड़े में बंट गया है। बुधवार को ईरानी संसद और खुमैन के मकबरे पर हमलों में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि 35 से ज्यादा लोग घायल हो गए। वहीं, ईरान के सुरक्षा बल इस्लामिक रिवॉल्यूशनरी गार्ड कोर ने आतंकियों के खिलाफ मोर्चा संभाल लिया।

TOPPOPULARRECENT