Saturday , July 29 2017
Home / Khaas Khabar / राष्ट्रपति चुनाव साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ एक जंग- सोनिया गांधी

राष्ट्रपति चुनाव साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ एक जंग- सोनिया गांधी

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एड़ी चोटी का ज़ोर लगा रही हैं । सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर ज़ोरदार हमला करते हुए सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों की बैठक में कहा कि राष्ट्रपति चुनाव संकीर्ण मानसिकता वाली साम्प्रदायिक ताकतों के खिलाफ एक जंग है।

पार्लियामेंट एनेक्सी में विपक्षी दलों की बैठक में सोनिया गांधी ने कहा कि राष्ट्रपति-उपराष्ट्रपति चुनाव में हमारे पास भले ही संख्या ना हो लेकिन राजनीतिक जंग निश्चित रुप से लड़ी जानी चाहिए और जोरदार तरीके से लड़ी जानी चाहिए।

सोनिया गांधी ने बीजेपी पर भी जोरदार वार किया। सोनिया ने कहा कि हम भारत को उन ताकतों का बंधक बनने नहीं दे सकते और नहीं बनने देंगे जो अपनी संकुचित, विभाजनकारी और साम्प्रदायिक विचारधारा देश पर थोपना चाहते हैं।

सोनिया ने कहा कि राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति देश के संवैधानिक प्रमुख होते हैं, उन्हें अपना दायित्व इस तरह निभाना पड़ता है कि देश के संविधान और कानून का संवर्धन, पोषण और रक्षण हो सके। सोनिया गांधी ने देश की वर्तमान सरकार पर हमला बोला और आगे कहा, ‘ लेकिन दुख की बात ये है कि इन दोनों पदों पर संकट मंडरा रहा है।

17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले विपक्षी दलों का हौसला बढ़ाते हुए सोनिया गांधी ने विपक्षी दलों के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति उम्मीदवार की शख्सियत का हवाला दिया और कहा कि मीरा जी और गोपाल कृष्ण जी के रुप में हमलोगों को सर्वोत्तम राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति मिलेगा जो देश को मौजूदा खतरे से बाहर निकाल कर ले जाएगा।

सोनिया ने कहा कि इन चुनावों में आंकड़े भले ही हमारे पक्ष में ना हों, लेकिन लड़ाई होगी और जबर्दस्त होगी। उपराष्ट्रपति पद के लिए विपक्षी दलों के उम्मीदवार गोपाल कृष्ण गांधी 18 जुलाई को नामांकन दाखिल करेंगे। जबकि बीजेपी ने उपराष्ट्रपति पद के लिए अपने कैंडिडेट के नाम का ऐलान नहीं किया है।

TOPPOPULARRECENT