Friday , June 23 2017
Home / India / रविवार से होगा बेंगलूरू में दो दिवसीय मुस्लिम युवा सम्मेलन का आग़ाज़

रविवार से होगा बेंगलूरू में दो दिवसीय मुस्लिम युवा सम्मेलन का आग़ाज़

मुसलमानों से जुड़े मुद्दों चर्चा करने के लिए दो दिवसीय मुस्लिम युवा सम्मेलन शहर में रविवार से शुरू होगा। डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन ऑफ इंडिया (डीवायएफआई) द्वारा आयोजित सम्मलेन के सम्बन्ध में फेडरेशन के राज्य अध्यक्ष मुनीर कातिपल्ला के मुताबिक यह सम्मेलन धर्मनिरपेक्षता, सशक्तिकरण और प्रगतिशीलता” विषय पर ध्यान केंद्रित करेगा।

 

 

यहां पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि मुस्लिम समुदाय भीतर और बाहर की चुनौतियों का सामना कर रहा है। न्यायमूर्ति राजिंदर सच्चर समिति ने पिछड़ेपन में अनुसूचित जातियों और अनुसूचित जनजातियों के नीचे भारतीय मुस्लिमों को रखा था। यह शिक्षा, रोजगार, स्वास्थ्य और आर्थिक क्षेत्रों में ऐसा था।

 

 

उन्होंने कहा कि ज्यादातर क्षेत्रों में मुस्लिम रहते हैं। स्थानीय नगर निकाय ऐसे क्षेत्रों में बुनियादी ढांचे को उपलब्ध कराने में रुचि नहीं दिखा रहे हैं। केंद्र और राज्य सरकारें मुसलमानों के कल्याण के लिए अपने वार्षिक बजट में अल्प निधि आरक्षित कर रही हैं।

 

 

अन्य समाज उनके खाने की आदतों और ड्रेस कोड को संदेह के साथ देखता है। अगर मुसलमान एक तरफ गरीबी से पीड़ित हैं, तो वे दूसरे पर सांप्रदायिकता के शिकार बन रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुसलमान अब एक नए संकट में हैं, क्योंकि कई राज्यों में निर्दोष मुस्लिम युवकों को आतंकवाद के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

 

 

मामलों के निपटान में देरी से ऐसे युवक जेल में काफी समय तक रहत हैं। कुछ चरमपंथी भी अपनी गतिविधियों के लिए कुछ घृणित युवाओं का दुरुपयोग कर रहे हैं। फेडरेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष मोहम्मद रियाज बाल्मटा स्थित शांति निलया में सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे।

 

 

 

लेखक रमजान दर्गा, बानू मुश्ताक, एनएएम इस्माइल, रहमत तरिकेरे, दिनेश अमीन मट्टू, बीएम बशीर और फनीराज विभिन्न विषयों पर अपनी बात रखेंगे। इसके अतिरिक्त श्रीराम रेड्डी, मुजफ्फर आसादी, पीर बाशा और अन्य भी सम्मलेन को सम्बोधित करेंगे। उन्होंने कहा कि युवाओं के सोशल मीडिया में सक्रिय होने पर भी चर्चा होगी।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT