Thursday , September 21 2017
Home / Khaas Khabar / एम्बुलेंस के पैसे न होने के कारण भाई के शव को उठाकर 40 किलोमीटर चलने को मजबूर हुआ भाई

एम्बुलेंस के पैसे न होने के कारण भाई के शव को उठाकर 40 किलोमीटर चलने को मजबूर हुआ भाई

झारखंड: बीजेपी शासित झारखंड के छतरा जिले से एंबुलेंस के पैसे ना होने कारण भाई के शव को पैदल ले जाने का मामला सामने आया है।

शिदपा गांव में रहने वाले लक्ष्मण एक आदिवासी लक्ष्मण एरोन के भाई राजेंद्र को सांप ने काट लिया था। जिसके बाद राजेंद्र को जिला सदर अस्पताल ले जाया गया।
अस्पताल में डॉक्टर ने लक्ष्मण को बाहर से दवाई लाने को कहा, लेकिन पैसे न होने के कारण वह दवाइयां लाने में असफल रहा। कुछ देर बाद डॉक्टर्स ने राजेंद्र को मृत घोषित कर दिया।
अस्पताल प्रशासन ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी और शव का पोस्ट मार्टम कराया गया। जिसके बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया।
लेकिन लक्ष्मण का घर वहां से 40 किमी दूर था और उनके पास जाने के लिए कोई वहां भी नहीं था। जब उन्होंने अस्पताल से एंबुलेंस की मांग की तो उनसे 4000 रुपए मांगे गए।

लक्ष्मण के पास इतने पैसे नहीं थे, इसलिए उसने भाई के शव को किसी भी तरह करके खुद ही ले जाने का फैसला किया।

लक्ष्मण की पत्नी सीता देवी ने राजेंद्र के बेटे को अपने पीठ से बांधा और शव को ले जाने में मदद की। थोड़ी दूर चलने के बाद वह स्थानीय लोगों की नजर में आए और प्रशासनिक अधिकारियों को इसकी सूचना दी गई। इसके बाद उनके लिए एबुलेंस का इंतज़ाम किया।

झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने इस मामले में सदर हॉस्पिटल के उप अधीक्षक, डॉ. कृष्ण कुमार और हॉस्पिटल मैनेजर डॉ. निशांत कुमार को हटाने के आदेश दिए हैं और दवाइयों की उपलब्धता ना होने पर भी जांच के आदेश दिए।

TOPPOPULARRECENT