Monday , June 26 2017
Home / Khaas Khabar / पहलू खान के घर वालों को भेंट की गई गाय, योगेंद्र यादव बोले- माँ के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं

पहलू खान के घर वालों को भेंट की गई गाय, योगेंद्र यादव बोले- माँ के आंसू रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं

बीए दिनों राजस्थान के अलवर में मारे गए पहलू खान की घटना के बाद गौरक्षकों की गुंडागर्दी लगातार बढ़ती जा रही है। आए दिन गाय-भैंस के साथ रास्ते में दिख रहे मुसलमानों पर गौरक्षक दल के गुंडे हमला कर रहे हैं।

इस बीच पहलू खान के घर वालों को सद्भावना मंच के सदस्यों ने गाय भेंट की है। स्वराज इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने शनिवार को अपने फेसबुक और ट्विटर अकाउंट पर एक पोस्ट कर इसकी जानकारी दी।

पहलू खान के घर गाय लेकर पहुंचे सद्भावना मंच के सदस्यों के साथ योगेंद्र यादव भी मौजूद थे।

इस दौरान योगेंद्र यादव ने इस घटना में घायल दूसरे पीड़ितों के साथ-साथ पहलू खान की मां से भी मिलकर उनका दुख बांटा।

योगेंद्र यादव ने अपने फेसबुक वॉल पर लिखा-

अलवर में गौरक्षकों की हिंसा की भेंट चढ़े पहलू खान की माँ अंगूरी बेगम के आंसू अपने एकमात्र बेटे के गम में खत्म होने का नाम ही नही ले रहे हैं। अब माँ की वेदना का तो कोई धर्म-मज़हब है नहीं। काश कि पहलू खान के हत्यारे यह समझ पाते।

सद्भावना मंच के साथियों ने पहलू खान के परिवार को एक गाय भेंट की है। मेवाती चिर काल से गौपालक रहे हैं। इसका उनके धर्म-मज़हब से कुछ लेना-देना नहीं है। लेकिन देश में फैलाए जा रहे उन्माद का सिर्फ एक ही मकसद है – धर्म-मज़हब के बीच इतनी गहरी खाई खोद दो कि देश की सदियों की परम्पराएं धाराशायी हो जाएँ। 

फैसला हमें करना है – क्या हम अपने देश की प्यार-सौहार्द की परंपरा को संभालेंगे या धर्म के नए ठेकेदारों के शोर को नयी परंपरा बनायेंगे?

बता दें कि बीते शनिवार गौरक्षकों के एक समूह से राजस्थान के अलवर जिले में कुछ लोगों पर हमला कर दिया था। इस घटना में गौरक्षकों ने सभी लोगों को बेरहमी से पिटाई की थी जिसमें एक व्यक्ति पहलू खान की इलाज के दौरान मौत हो गई।

अलवर पुलिस के मुताबिक, पहलू खान जयपुर से कुछ दुधारू गायों को लेकर हरियाणा के मेवात के नूहं जा रहे थे। तभी कुछ गौरक्षकों ने उन पर और उनके साथियों पर हमला कर दिया था।

हालांकि पहलू खान गायों की खरीद के दस्तावेज भी दिखाए थे जिसमें यह साफ़ ज़ाहिर हो रहा था कि वो उन्हें गोकशी के लिए नहीं ले जा रहे थे। बावजूद इसके उत्तेजित गौरक्षकों ने पहलू खान और उनके साथियों को बुरी तरह मारा पीटा और उन्हें जिंदा जलाने की कोशिश की।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT