Saturday , June 24 2017
Home / India / ISI जासूसी कांड में शिवराज सरकार का खुलासा, आरोपियों ने देश को 3000 करोड़ की चपत लगाई

ISI जासूसी कांड में शिवराज सरकार का खुलासा, आरोपियों ने देश को 3000 करोड़ की चपत लगाई

भोपाल। देश की सामरिक महत्व की जानकारियां पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी को देने के लिए विभिन्न हिस्सों में चलने वाले सामानांतर टेलीफोन एक्सचेंजों से देश को तीन हजार करो़ड रूपये से ज्यादा का नुकसान हुआ है। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने सोमवार को विधानसभा में यह जानकारी दी। कांग्रेस विधायकों ने सोमवार को ध्यानाकर्षण प्रस्ताव के जरिए राज्य में बढ़ती आतंकवादी गतिविधियों का मुद्दा उठाया।

 

इस दौरान भोपाल के केंद्रीय जेल से विचाराधीन कैदियों के भागने व उन्हें मुठभेड में मार गिराने, पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी को सामरिक जानकारी देने के लिए चल रहे समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज और शाजापुर में ट्रेन में हुए विस्फोट पर चर्चा हुई। कांग्रेस विधायक गोविंद सिंह ने कहा कि राज्य की राजधानी भोपाल, इंदौर, जबलपुर आदि स्थानों से पाकिस्तान की खुफिया एजेंसियों के लिए जासूसी और एजेंटों को पैसा मुहैया कराने के आरोप में 11 से ज्यादा जासूसों को आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) ने पकडा।

 

ये गद्दार राज्य में समानांतर टेलीफोन एक्सचेंज चला देश की जानकारियां आईएसआई को देते थे। इन एक्सचेंजों ने स्थानीय कॉलों को स्थानीय रूप से नकाबपोश किया और उन्हें चीनी उपकरण का उपयोग करके स्थानीय जीएसएम नेटवर्क में पहुंचाया। पुलिस के मुताबिक इन कॉलों को आईएसआई द्वारा भारत में जासूसी और उसके ऑपरेटरों के संपर्क में रहने के लिए इस्तेमाल किया गया था।

 

इन एक्सचेंजों ने स्थानीय जीएसएम नेटवर्क कॉलों के लिए विदेशी कॉल को परिवर्तित किया और स्थानीय सेवा प्रदाताओं की तुलना में कम दरों पर शुल्क लिया गया। ये एक्सचेंज आईटी कंसल्टेंसी सर्विसेज के परिधान के तहत चलाए गए थे। कांग्रेस के विधायकों ने आरोप लगाया है कि पिछले 10 सालों में राज्य और सरकार में आतंकवादी गतिविधियों में वृद्धि हुई है और उनकी खुफिया एजेंसियों ने उन्हें रोक नहीं सकी जिससे लोगों के बीच असुरक्षा की भावना पैदा हुई है। सिंह ने आरोपों का खंडन करते हुए दावा किया कि संभवतः देश में पहली बार है कि घटना के कुछ घंटों के भीतर संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया।

Top Stories

TOPPOPULARRECENT