Thursday , August 17 2017
Home / Khaas Khabar / तमंचा सटाकर बेवफ़ा प्रेमी को शादी के मंडप से उठाने वाली लड़की गिरफ़्तार, मामला में आया नया मोड़

तमंचा सटाकर बेवफ़ा प्रेमी को शादी के मंडप से उठाने वाली लड़की गिरफ़्तार, मामला में आया नया मोड़

शादी के मंडप से सरेआम दुल्हे को तमंचे के बल पर उठा ले जाने वाली लड़की को पुलिस ने गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि वर्षा साहू ने अपने प्रेमि सोमवार 15 मई की रात को रिवॉल्‍वर दिखाकर शादी के मंडप से उठा लिया था।

दरअसल लड़का इसका पूर्व में रह चुका था लेकिन अब उसे छोड़कर दूसरी लड़की से शादी जा रहा था। तभी लड़की सरेआम तमंचा लेकर पहुंची और अपने प्रेमी को उठा ले गई।

इसके बाद दूल्हा को गायब देखकर लड़की वालों ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद दूल्हे के भाई को हिरासत में ले लिया गया। लेकिन बाद में पुलिस ने वर्षा को भी गिरफ्तार कर लिया। वर्षा को बांदा से गिरफ्तार गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी के बाद वर्षा ने अपनी गलती को स्वीकार कर लिया। हालांकि, उसने यह बात भी कहा है कि इस वारदात को उसने दूल्हे की सहमती के बाद अंजाम दिया था।

हालांकि पुलिस का कहना है कि वर्षा मो तमंचे के बल पर अशोक का अपहरण नहीं किया था। बल्कि अशोक ने अपनी मर्जी से उसके साथ आया था।

वर्षा का कहना है कि दोनों पिछले आठ साल से एक दूसरे में प्यार करते है। अशोक की शादी उसकी मर्जी के खिलाफ हो रही थी, इसलिए वो अशोक को अपने साथ ले आई।

बता दें कि उत्तर प्रदेश के बांदा जिले के मटौंध थाना क्षेत्र के मोहन पुरवा गांव निवासी रामहेत यादव का पुत्र अशोक कुमार यादव एक क्लीनिक में नौकरी करता था। वहीं, काम करने के दौरान वहीं की एक लड़की वर्षा साहू उसे प्यार हो गया।

अशोक ने लड़की से शादी करने का वादा किया पर बाद में अपनी बातों से मुकर गया। इसके बाद उसकी शादी हमीरपुर के मौदहा कोतवाली क्षेत्र के भवानीपुर गांव निवासी राम संजीवन की बेटी भारती से तय हो गई।

सोमवार को अशोक बरात लेकर भवानीपुर पहुंचा। शाम को लड़की वालों की तरफ से बरातियों का जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद जयमाल कार्यक्रम और खाने-पीने का काम शुरू हो गया।

इसके बाद तकरीबन 1: 30 के आसपास चढ़ावा चढ़ाने का कार्यक्रम शुरू हुआ। तभी वर्षा दो लड़कों के साथ स्कार्पियो से पहुंची और अशोक के सर पर रिवॉल्वर तान दिया और शोक से कहा, “प्यार हमसे किया और शादी किसी और से, यह बर्दाश्त नहीं है मुझे।” उसके बाद वर्षा ने अशोक को गाड़ी में बैठाया और फरार हो गई।

फिर बरातियों ने 100 नंबर पर डायल किया। पुलिस मौके वारदात पर पहुंची और अशोक के भाई जयेंद्र, फोटोग्राफर रामनाथ और उसके बेटे रोहित को हिरासत में ले लिया।

TOPPOPULARRECENT